इमरान ने संसद में ओसामा बिन लादेन को शहीद बताया, कहा- हमें अमेरिका का साथ नहीं देना चाहिए था

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भरी संसद में अलकायदा के सरगना रहेआतंकवादीओसामा बिन लादेन को शहीद बताया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ जंग में अमेरिका का साथ नहीं देना चाहिए था।

इमरानने कहा कि अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर लादेन को शहीद कर दिया और पाकिस्तान को बताया भी नहीं। इसके बाद पूरी दुनिया ने पाकिस्तान को भला-बुरा कहना शुरू कर दिया, जिससे देश को शर्मिंदा होना पड़ा।

अमेरिका का साथ देकर अपने 70 हजार लोग खोए- इमरान
इमरान ने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ जंग में अमेरिका का साथ देकर अपने 70 हजार लोगों को खो दिया। विदेशों में रहने वाले पाकिस्तानियों को शर्मिंदगी झेलनी पड़ी। 2010 के बाद पाकिस्तान में ड्रोन अटैक हुए और सबने सिर्फ निंदा की।

2011 में मारा गया था ओसामा
ओसामा बिन लादेन पाकिस्तान के एबटाबाद में 2 मई 2011 को मारा गया था। अमेरिकी के सुरक्षा बलों ने एक स्पेशलऑपरेशन के जरिए उसे पाकिस्तान में घुसकर मारा था। लादेन अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर आतंकी हमलेका दोषी था। लादेन के शव को समुद्र में दफना दिया गया था।

पाकिस्तान मिलिट्री बेस के पास ही ठिकाना था
आईएसआई डाइरेक्टर जनरल अहमदशुजा पाशा को आईएसआई के महानिदेशक अहमद शुजा पाशा को लादेन की मौजूदगी का पता था। पाकिस्तान सरकार पर लादेन को पनाह देने के आरोप लगे थे। एबटाबाद में जिस जगह पर लादेन छिपा था, वहां से एक मील से भी कम दूरी पर ही पाकिस्तान का मिलिट्री बेस था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पाकिस्तान की संसद में बोलते इमरान खान। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ जंग मे अमेरिका का साथ देकर अपने 70 हजार लोगों को खो दिया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2VkDHse

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस