जॉर्ज फ्लॉयड के गुनहगार पुलिस अफसर डेरेक चौविन की पत्नी ने तलाक मांगा; कहा- जॉर्ज की मौत से टूट गई हूं, डेरेक से फूटी कौड़ी नहीं चाहिए

अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस अफसर के हाथों निर्मम हत्या के बाद अमेरिका में विरोध प्रदर्शन जारी हैं। हालांकि, हिंसा अब थम चुकी है। इस बीच, आरोपी पुलिस अफसर डेरेक चौविन की पत्नी कैली ने उससे तलाक की अर्जी दायर कर दी है। सीएनएन के मुताबिक, जॉर्ज की हत्या 25 मई को हुई। कैली ने 28 मई को एक लॉ फर्म के जरिए तलाक की अर्जी दायर कर दी। कैली ने खुद मीडिया से बातचीत नहीं की। लेकिन, दो बातें लॉ फर्म के हवाले से सामने आईं। पहली- कैली जॉर्ज की हत्या से बेहद दुखी हैं। उन्होंने कहा है कि वो टूटा हुई महसूस कर रही हैं। दूसरी- कैली ने कहा है कि उन्हें तलाक के बदले हर्जाने के तौर पर डेरेक से फूटी कौड़ी भी नहीं चाहिए।
बहरहाल, इस कहानी के बीच, नजर उन तस्वीरों पर डालते हैं जो जॉर्ज की मौत के बाद जारी अमेरिका में जारी विरोध प्रदर्शनों से आ रही हैं।

तस्वीर जॉर्ज की हत्या के आरोपी पुलिस अफसर डेरेक चौविन की पत्नी कैली की है। पेशे से रेडियोलॉजिस्ट हैं। 2018 में मिसेज मिनेसोटा चुनी गईं थीं। फ्लॉयड की हत्या से बेहद दुखी हैं। कैली ने बर्खास्त पुलिस अफसर पति से तलाक की अर्जी दायर कर दी है।
तस्वीर कैलिफोर्निया के पासाडेना की है। यहां जॉर्ज की मौत के बाद लोगों ने शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किया। खास बात ये है कि इनमें ज्यादातर श्वेत लोग थे।
अमेरिका में नस्लवाद की समस्या पहले भी रही है। जॉर्ज की हत्या के बाद एक बार फिर लोग कहे रहे हैं कि अश्वेतों की जिंदगी भी कीमती है। महामारी के चलते प्रदर्शनकारी मास्क लगा रहे हैं। इन पर अलग-अलग स्लोगन नजर आते हैं। ये तस्वीर सिएटल की है।
न्यूयॉर्क दोहरी समस्या से जूझ रहा है। पहली महामारी और दूसरी विरोध प्रदर्शन। शहर में कर्फ्यु है लेकिन इसके बावजूद लोग बाहर निकले। कई प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया। तस्वीर न्यूयॉर्क के मैनहट्टन की है।
कैलिफोर्निया में लोग वाहनों पर बैनर और प्लेकार्ड्स लेकर प्रदर्शन करते नजर आए। यहां भी विरोध प्रदर्शन में ज्यादातर श्वेत नागरिक ही थे।
आमतौर पर विरोध प्रदर्शनों में इस तरह की तस्वीरें नहीं आतीं। टेक्सॉस के ह्यूस्टन में कुछ लोगों ने घोड़ों पर बैठकर रैली निकाली।
वॉशिंगटन के बाद अगर सबसे ज्यादा विरोध प्रदर्शन कहीं हुए तो वह न्यूयॉर्क राज्य है। यहां के मैनहट्टन बॉरो में मंगलवार रात कई रैलियां निकाली गईं। इस दौरान पुलिस ने कुछ प्रर्दशनकारियों को हिरासत में भी ले लिया।
विरोध प्रदर्शन में शामिल होने वाले कुछ लोग बच्चों को लेकर भी पहुंच रहे हैं। तस्वीर पासाडेना की है। यहां एरिक प्योस्तो अपने बच्चे को गोद में लिए जॉर्ज को इंसाफ दिलाने की मुहिम में शामिल होने पहुंचे।
मंगलवार से विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण हो गए। इसके बाद पुलिस ने भी नरम रवैया अख्तियार किया। तस्वीर मैनहट्टन की है। यहां एक प्रदर्शनकारी जब बेसुध होने लगा तो पुलिस अफसर ने उसका हाथ थामकर सहारा देने की कोशिश की।
जॉर्ज की हत्या से हर कोई दुखी है। फिर चाहे वो श्वेत हों या अश्वेत। बच्चे हों या बुजुर्ग या फिर युवा। पासाडेना की इस तस्वीर में आपको बच्चे भी नजर आएंगे और बड़े भी। हर कोई बस यही मांग कर रहा है कि जॉर्ज को मौत के बाद ही सही, इंसाफ मिलना चाहिए।
मंगलवार को ज्यादातर विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहे। शायद यही वजह है कि इनमें बच्चे भी नजर आए। लोग कार में निकले। बच्चों के हाथों में भी स्लोगन लिखे प्लेकार्ड्स नजर आए।
अमेरिकी युवाओं का एक बड़ा तबका जॉर्ज की मौत से आहत है। वो खुलकर विरोध प्रदर्शन में हिस्सा ले रहा है। उसका भी यही कहना है कि अश्वेतों को भी जीने का हक है।
अश्वेतों का आरोप है कि अमेरिका में उन पर जुल्म किया जाता है। पुलिस पर तो हमेशा से ही अश्वेतों पर ज्यादती के आरोप लगते रहे हैं। तस्वीर पासाडेना की है। यहां अश्वेतों ने चेन बनाई। इस दौरान उन्होंने अपने हाथ रस्सी से बांध लिए।
विरोध प्रदर्शन जारी हैं तो पुलिस और नेशनल गार्ड्स की तैयारी भी कुछ कम नहीं है। खबर मिले कि वॉशिंगटन में लिंकन मेमोरियल पर प्रदर्शनकारी जुटने वाले हैं। इसके पहले ही पुलिस मौके पर पहुंची और वहां सुरक्षा घेरा बना दिया।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
George Floyd Protests Updates In Pictures| Protests over death of African-American George Floyd Today Latest News Updates In Photos


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3du8zOe

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे