ट्रम्प ने कहा- चीन से पूरी तरह रिश्ते तोड़ सकता है अमेरिका; एक दिन पहले ट्रेड एडवाइजर ने भी यही धमकी दी थी

अमेरिका और चीन के रिश्तों में तनाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरुवार रात ट्विटर पर एक बयान जारी किया। हाल के दिनों में इसे अमेरिकी की तरफ से चीन को सबसे बड़ी धमकी या चेतावनी माना जा सकता है। ट्रम्प ने कहा- हमारे पास चीन से रिश्ते खत्म करने का विकल्प मौजूद है।
खास बात ये है कि ट्रम्प ने इसकी कोई वजह नहीं बताई कि वो क्यों चीन से रिश्ते खत्म करने की बात कह रहे हैं। ट्रम्प के बयान के एक दिन पहले अमेरिकी ट्रेड एडवाइजर रॉबर्ट लाइटहाइजर भी यही बात कह चुके हैं। लिहाजा, मामला गंभीर लगता है।

ट्रम्प ने क्या कहा?
ट्रम्प ने गुरुवार रात किए गए ट्वीट में अमेरिकी ट्रेड एडवाइजर लाइटहाइजर का भी जिक्र किया। ट्रम्प ने कहा, “यह लाइटहाइजर की गलती नहीं है। शायद मैं ही अपनी बात को साफ नहीं कर पाया। लेकिन, अमेरिका के पास एक रणनीतिक विकल्प मौजूद है। हम चीन से सभी तरह के रिश्ते तोड़ सकते हैं। धन्यवाद”


पॉम्पियो से मिले थे चीन के अफसर
बुधवार को चीन के एक अफसर यांग जिएची ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो से मुलाकता की थी। यांग ने पॉम्पियो को भरोसा दिलाया था कि चीन एगीकल्चर और दूसरे सेक्टर में हुए समझौतों का पालन करेगा।

दोनों देशों में कई मुद्दों पर तनाव
अमेरिका कई मुद्दों पर चीन से नाराज है। ट्रम्प आरोप लगा चुके हैं कि कोरोनावायरस पर उसने अमेरिका ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को गुमराह किया। वो यह भी कहते है कि वायरस वुहान के लैब से निकला। दक्षिण चीन सागर में चीन को रोकने के लिए अमेरिका कमर कस चुका है। तीन अमेरिकी वॉरशिप यहां तैनात हैं। भारत और चीन की हालिया सैन्य झड़प के लिए भी अमेरिका ने चीन को कसूरवार ठहराया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बुधवार रात व्हाइट हाउस में मीडिया से बात करते डोनाल्ड ट्रम्प। गुरुवार को उन्होंने चीन से सभी तरह के रिश्ते खत्म करने की धमकी दी। चीन ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2zNTqss

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान