चार पुलिसकर्मियों पर चलेगा मामला, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन बोले- नस्लभेद की समाज में कोई जगह नहीं होनी चाहिए

अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के मामले में चार पुलिसकर्मियों पर मामला चलेगा। सांसद एमी क्लोबुचर ने बुधवार को बताया कि मिन्नेसोटा की अटॉर्नी जनरल कीथ एलिसन ने फ्लॉयड की गर्दन घुटनों से दबाने वाले मिनेपोलिस के पुलिस अफसर डेरेक चॉविन पर लगे आरोपों को बढ़ाने का फैसला किया है। यह फ्लॉयड को इंसाफ दिलाने के लिए एक अहम कदम है। वहीं, चॉविन के तीन साथियों को भी नामजद किया गया है। इन तीनों पुलिसकर्मियों पर पहले कोई आरोप नहीं थे। अब उन पर हत्या के लिए उकसाने और इसमें साथ देने का मामला दर्ज होगा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि मैं अमेरिका में गिरफ्तारी के दौरान जॉर्ज फ्लॉयड की मौत से हैरान हूं। राष्ट्रपति ट्रम्प और और अमेरिका के सभी लोगों को मेरा यही संदेश है कि नस्लीय हिंसा की हमारे समाज में कोई जगह नहीं होनी चाहिए। दुनिया के ज्यादातर लोगों का भी यही मानना है।

इंसाफ के हित में नए आरोप लगाए गए: अटॉर्नी जनरल

मिन्नेसोटा के अटॉर्नी जनरल कीथ एलिसन ने नए आरोपों का ऐलान करते हुए कहा यह इंसाफ के हित में है। मामले में मुख्य आरोपी चॉविन पर पहले हत्या का सेकेंड डिग्री आरोप था, जो बरकरार रहेगा। इसके साथ ही पुलिसकर्मी थॉमस लेन, जे एलेक्जेंडर कुंग और टाऊ थाओ पर हत्या में साथ देने और उकसाने के साथ हत्या का सेकेंड डिग्री आरोप लगाया जाएगा। इन आरोपों में कड़ी सजा का प्रावधान है। एलिसन ने यह भी कहा कि मुझे इसमें कोई भ्रम नहीं कि एक पूर्व पुलिस अफसर को सजा दिलाना कठिन होगा।इतिहास बताता है इसमें कड़ी चुनौतियां हैं। मिन्नेसोटा में सिर्फ एक पुलिस अफसर को किसी सिविलियन की हत्या में दोषी ठहराया गया है।

25 मई को फ्लॉयड को गिरफ्तार किया गया था
मिनेपोलिस में 25 मई को फ्लॉयड को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया था। इससे पहले पुलिस अफसर डेरेक चॉविन नेफ्लॉयड को सड़क पर दबोचा था और अपने घुटने से उसकी गर्दन को करीब आठ मिनट तक दबाए रखा था। फ्लॉयड के हाथों में हथकड़ी थी।इसमें 46 साल का जॉर्ज लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने की गुहार लगाता रहा।वीडियो में उसने कहा, 'आपका घुटना मेरे गर्दन पर है। मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं... ।’’ धीरे-धीरे उसकी हरकत बंद हो जाती है। इसके बाद अफसर कहते हैं, ‘उठो और कार में बैठो’, तब भी उसकी कोई प्रतिक्रिया नहीं आती। इस दौरान आस-पास काफी भीड़ जमा हुई। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका के वैनकूवर में बुधवार को जॉर्ज फ्लाॅयड की मौत के खिलाफ प्रदर्शन करते लोग। यहां पिछले नौ दिन से प्रदर्शन जारी है। सरकार ने हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए 40 शहरों में कर्फ्यू लगाया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3eInsfO

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस