देश और धर्म विरोधी कंटेंट का आरोप लगाकर 100 किताबें बैन; इनमें पीओके को भारत का हिस्सा बताया गया

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के एजुकेशन बोर्ड ने देश और धर्म विरोधी कंटेंट का आरोप लगाकर प्राईवेट स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली 100 किताबें बैन कर दीं। 10 हजार और किताबों का रिव्यू किया जा रहा है। इन किताबों में कुछ आपत्तिजनकफोटोग्राफ हैं तो किसी चैप्टर में पीओके को भारत का हिस्सा बताया गया है।

ऑक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज की किताबें भी बैन
पंजाब के करिकुलम एंड टेक्स्टबुक बोर्ड (पीसीटीबी) के एमडी राज मंजूर हुसैन नासिर ने गुरुवार को यह फैसला लिया। उन्होंने कहा- प्राईवेट स्कूलों में पढ़ाई जा रही किताबों की समीक्षा की जा रही है। 30 कमेटी बनाई गई हैं। पहले चरण में 31 पब्लिशरों की 100 किताबें बैन की गई हैं। इसमें ऑक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज की किताबेंं भीशामिल हैं। इन किताबों में देश और धर्म विरोधी कंटेंट है।

पाकिस्तान के बनने के बारे में गलत जानकारी
नासिर ने कहा- किताबों की समीक्षा से पता चला है कि पाकिस्तान और इसके बनने के बारे में गलत जानकारी दी जा रही है। कायदे आजम मुहम्मद अली जिन्ना और अल्लामा मुहम्मद इकबाल के बारे में गलत पढ़ाया जा रहा है। पाकिस्तान को भारत से कमजोर बताया गया है। पीओके को भारत का हिस्सा दिखाया गया है। कई किताबों में महात्मा गांधी से जुड़े चैप्टर भी हैं।

धर्म विरोधी कंटेंट
आरोप है कि कई किताबों में धर्म विरोधी कंटेंट है। इनके पब्लिशरों पर बैन लगा दिया गया है। अब इस तरह की किताबें नहीं बेची जा सकेंगी। दूसरे राज्यों में भी किताबों की समीक्षा की जाएगी।

ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...
1. पाकिस्तान की हकीकत:अगवा और फिर रिहा किए गए पत्रकार ने कहा- जिन लोगों ने मुझे किडनैप किया, वे लोकतंत्र के दुश्मन, वर्दी बदलने से फर्क नहीं पड़ता

2.कुलभूषण मामले में पाकिस्तान का नया पैंतरा:कुलभूषण जाधव को वकील देने के लिए इमरान सरकार इस्लामाबाद हाईकोर्ट पहुंची, कहा- निष्पक्ष जांच के लिए ऐसा करना जरूरी



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार के मुताबिक, बैन की गई किताबों में देश की स्थापना के बारे में गलत पढ़ाया जा रहा था।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/39nHTgK

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस