कराची के पास बस-ट्रेन की टक्कर में 19 सिख श्रद्धालुओं की जान गई, बिना फाटक वाली रेलवे क्रॉसिंग की वजह से हादसा

पाकिस्तान में शुक्रवार दोपहर एक ट्रेन हादसे में 19 सिख श्रद्धालुओं की मौत हो गई। सिख श्रद्धालुओं को ले जा रही एक बस लाहौर से कराची जा रही शाह हुसैन एक्सप्रेस से टकरा गई। यह टक्कर फारूकाबाद स्टेशन के पासहुई। पाकिस्तान के न्यूज वेबसाइट‘द डॉन न्यूज’ के मुताबिक, 15 श्रद्धालुओं की मौके पर ही मौत हो गई।

इमरान ने शोक व्यक्त किया
रेलवे अधिकारियों ने कहा कि एक्सीडेंट की वजह बिना गेट वालीरेलवे क्रॉसिंग है। यहां तेज रफ्तार शाह हुसैन एक्सप्रेस निकल रही थी। इसी दौरान बस के ड्राइवर ने भी गेट क्रॉस करने की कोशिश की। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने घटना पर शोक जताया।

रेल मंत्री शेख रशीद ने जांच के आदेश दिए हैं। बताया जाता है कि सभी सिख श्रद्धालु ननकाना साहिब से मत्था टेककर लौट रहे थे।

##

पिछले साल दो हादसों में 100 लोग मारे गए थे
पाकिस्तान में पिछले साल अक्टूबर में तेजगाम रेल हादसा हुआ था। इसमें 89 लोगों की मौत हो गई थी। तब इमरान खान का एक पुराना वीडियो काफी वायरल हुआ था। यह वीडियो नवाज शरीफ के दौर का था। तब इमरान ने रेल हादसे पर रेलमंत्री के इस्तीफे की मांग की थी। हालांकि, तेजगाम हादसे के बाद उन्होंने बड़बोले रेल मंत्री शेख रशीद का बचाव किया था। इसके अलावा 1 जुलाई 2019 को सादिकाबाद में मालगाड़ी और एक्सप्रेस ट्रेन की टक्कर में 11 लोग मारे गए थे।

ये भी पढ़ें:

कराची-रावलपिंडी एक्सप्रेस में गैस सिलेंडर फटने से आग लगी; 74 की मौत, 40 जख्मी

75 लोगों की मौत के बाद इमरान का पुराना वीडियो वायरल; कहा था- रेल हादसों में मंत्री फौरन इस्तीफा दें



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पाकिस्तान में शुक्रवार को ट्रेन और बस की टक्कर का यह फोटो वहां के अखबार द डॉन ने जारी किया है। घटना में 19 सिख श्रद्धालुओं की मौत हो गई है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2NOVxQb

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान