अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

पाकिस्तान के सुरक्षाबलों ने अफगानिस्तान की सीमा को दोबारा खोले जाने को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर गोलियां बरसाईं। इस दौरान तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 30 घायल हो गए। सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

कोरोनावायरस के कारण बलूचिस्तान में चमन सीमा को बंद कर दिया गया है। इसके चलते इस क्षेत्र के एक लाख से ज्यादा लोग बेरोजगार हो गए हैं। ईद मनाने के लिए बुधवार को सीमा खोल दिया गया था, ताकि दोनों ओर के लोग अपने-अपने रिश्तेदारों के साथ त्योहार मना सकें। हालांकि, सीमा मजदूरों के लिए बंद की गई थी, जो दिन के समय अफगानिस्तान जाते हैं और शाम तक घर लौटते हैं।

प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों पर हमला किया

गुरुवार को फ्रेंडशिप गेट के सामने बड़ी संख्या में लोग जमा हुए और धरना देते हुए सीमा खोलने की मांग करने लगे। फ्रंटियर कॉर्प्स (एफसी) ने उन्हें बताया कि प्रदर्शनकारियों को वहां से शिफ्ट करने तक गेट नहीं खोला जाएगा। इसके बाद प्रदर्शनकारी आक्रामक हो गए और फ्रेंड शिप गेट पर मौजूद ऑफिसों में तोड़-फोड़ और सुरक्षाबलों पर हमला करने लगे।

गुरुवार को भी गोलीबारी

इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां बरसाईं, जिसमें तीन लोग मारे गए और एक महिला समेत 20 जख्मी हो गए। दूसरे दिन भी तनाव जारी रहा। शुक्रवार को भी लोगों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया। इसके बाद पुलिस ने हवाई फायरिंग की, जिसमें और 10 लोग घायल हो गए।

सुरक्षा मामलों से कोई समझौता नहीं: मंत्री

बलूचिस्तान के गृह मंत्री जिया लांगोव शुक्रवार को चमन बॉर्डर पहुंचे और इस पूरे घटनाक्रम को लेकर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि यह सरकार की जिम्मेदारी है कि लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ईद मनाने के लिए बुधवार को सीमा खोल दिया गया था, ताकि दोनों ओर के लोग अपने-अपने रिश्तेदारों के साथ त्योहार मना सके। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Xe6NdI

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान