नॉर्थ वजीरिस्तान में पाकिस्तान आर्मी पर विद्रोहियों का हमला, 4 सैनिकों की मौत, कई घायल

पाकिस्तान के नॉर्थ वजीरिस्तान इलाके में रविवार को विद्रोहियों के साथ मुठभेड़ में चार सैनिक मारे गए। कई अन्य घायल हैं। इनमें से कुछ की हालत गंभीर बताई गई है। पाकिस्तान आर्मी के मीडिया विंग ने मारे गए सैनिकों के फोटोग्राफ रिलीज किए हैं। जानकारी के मुताबिक, सैनिकों और विद्रोहियों के बीच मुठभेड़ नॉर्थ वजीरिस्तान के मीरानशाह शहर से कुछ दूर हुई।
पिछले हफ्ते भी इसी इलाके में एक एनकाउंटर हुआ था। इसमें पाकिस्तानी फौज की एक चौकी उड़ा दी गई थी। तीन सैनिक भी मारे गए थे। रविवार को हुई घटना में तीन विद्रोहियों के मारे जाने की भी खबर है।

इंटेलिजेंस बेस्ड ऑपरेशन
‘द डॉन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी फौज को मीरानशाह शहर से 8 किलोमीटर दूर बोया इलाके में कुछ विद्रोहियों के छिपे होने की खबर मिली थी। सेना की कुछ गाड़ियां यहां भारी हथियारों के साथ पहुंचीं। लेकिन, विद्रोहियों ने उनके मोर्चा संभालने से पहले ही हमला कर दिया। इसलिए, सैनिकों को संभलने का मौका ही नहीं मिल पाया। चार सैनिक घटनास्थल पर मारे गए।

शहबाज शरीफ ने सरकार को घेरा
संसद में विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ ने सैनिकों के मारे जाने पर इमरान खान सरकार को घेरा। शरीफ ने कहा- यह सरकार की नाकामी है जो हमें अपने सैनिक गंवाने पड़ रहे हैं। मई महीने में भी यहां एनकाउंटर हुआ था, तब भी 7 सैनिकों की मौत हुई थी। सरकार बताए कि नॉर्थ वजीरिस्तान इलाके में हालात कब सुधरेंगे। बलूचिस्तान में भी यही हो रहा है।

आईईडी के इस्तेमाल का आरोप
आईएसपीआर के एक बयान में कहा गया है कि विद्रोहियों ने सेना पर हमले के लिए आईईडी डिवाइस का इस्तेमाल किया और इसके चलते ही ज्यादा नुकसान हुआ। मार्च में भी इसी तरह की घटना सामने आई थी। तब आईईडी के जरिए विस्फोट किया गया था और इसमें 6 सैनिकों की मौत हो गई थी।

पाकिस्तान से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं...
1. वायुसेना प्रमुख भदौरिया ने कहा- बालाकोट एयरस्ट्राइक में हम दोगुना विमान और चार गुना हथियारों का इस्तेमाल कर सकते थे

2. हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से शुरू, इन्होंने परिवार का खर्चा नहीं चला पाने का हवाला दिया था



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पाकिस्तान के नॉर्थ वजीरिस्तान इलाके में विद्रोही अकसर फौज पर हमले करते हैं। मार्च से लेकर अब तक यहां चार हमलों में 22 सैनिक मारे जा चुके हैं। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2OliUBc

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान