इमरान के 4 स्पेशल असिस्टेंट्स के पास दोहरी नागरिकता, विपक्ष बोला- दागदार लोगों को हटाएं प्रधानमंत्री

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के चार स्पेशल असिस्टेंट्स के पास दोहरी नागरिकता है। इसका खुलासा खुद सरकार ने किया है। इनकी प्रॉपर्टीज और नागरिकता की जानकारी सरकारी वेबसाइट पर अपलोड की गई है। इस खुलासे के बाद विपक्ष ने सरकार के रवैये पर सवाल उठाए हैं। दूसरी तरफ, सरकार ने सफाई में कहा है कि उसने कुछ भी छिपाने की कोशिश नहीं की है।

इमरान के 20 सलाहकार
पाकिस्तान सरकार ने बताया है कि प्रधानमंत्री के 20 सलाहकार हैं। इनमें से 19 नॉन इलेक्टेड यानी वे लोग हैं जो चुनकर नहीं आए। चार स्पेशल असिस्टेंट्स ऐसे हैं जिनके पास पाकिस्तान के अलावा एक और देश की नागरिकता है।

इनके पास दोहरी नागरिकता
नदीम बाबर : पेट्रोलियम मामलों के सलाहकार। अमेरिकी नागरिकता भी है।
सैयद जुल्फिकार अब्बास बुखारी : विदेशी मामलों के सलाहकार। ब्रिटेन की सिटीजनशिप भी है।
शहजाद कासिम : पावर सेक्टर मामलों के सलाहकार। अमेरिकी नागरिकता भी है।
तानिया एस. अरदौस : डिजिटल मामलों की सलाहकार। कनाडा की भी नागरिकता है।

इन तीन के पास रेसीडेंस परमिट
शहबाज गिल : राजनीतिक सलाहकार। अमेरिका में अस्थायी निवास का परमिट।
मोईद यूसुफ : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार। अमेरिका के अस्थायी नागरिक।
नदीम अफजल गोंदल : संसदीय मामलों के सलाहकार। कनाडा के अस्थायी नागरिक।

विपक्ष ने क्या कहा?
नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन और बिलावल भुट्टो की पार्टी ने इस खुलासे पर सरकार को घेरा। पीएमएल-एन के सांसद मुख्तार आसिफ ने कहा- ये किस तरह के प्रधानमंत्री और किस तरह की सरकार है। अगर देश के मुखिया के चार सलाहकार दो देशों के नागरिक हैं तो इससे क्या मुल्क खतरे में नहीं पड़ जाएगा। ये देश की सुरक्षा पर बड़ा खतरा है। पीपीपी की सांसद शेरी रहमान ने कहा- अगर कोई विदेशी सांसद नहीं बन सकता तो देश के प्रधानमंत्री का विशेष सलाहकार कैसे हो सकता है।

पाकिस्तान से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं...
1. पाकिस्तान में खुदाई के दौरान 1700 साल पुरानी बुद्ध प्रतिमा मिली, कट्टरपंथियों ने इसे हथौड़े से तुड़वा दिया
2. पीओके का दौरा करने के बदले ब्रिटिश सांसदों को मिले 30 लाख रु, भारत से लौटाए जाने के बाद पीओके का दौरा किया था



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
इमरान खान के चार स्पेशल असिस्टेंट्स ऐसे हैं जिनके पास पाकिस्तान के अलावा एक और देश की नागरिकता है। खास बात ये है कि इमरान जब विपक्ष में थे तो दोहरी नागरिकता का खुलकर विरोध करते थे। (फाइल फोटो)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2E1hFFl

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस