अब बलूचिस्तान में पाकिस्तान की सेना पर हमला, 8 सैनिक मारे गए, कई घायल; पिछले हफ्ते नॉर्थ वजीरिस्तान में 4 फौजी मारे गए थे

मंगलवार शाम बलूचिस्तान में पाकिस्तानी फौज के काफिले पर हुए हमले में 8 सैनिकों की मौत की खबर है। हालांकि, पाकिस्तानी मीडिया ने तीन सैनिकों के मारे जाने की बात ही कही है। इस हमले में 9 सैनिक गंभीर रूप से घायल बताए गए हैं। बताया जाता है कि यह हमला बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी ने किया। रविवार को नॉर्थ वजीरिस्तान में फौजियों पर हमला किया गया था। इसमें चार सैनिक मारे गए थे।
पंजगुर के रास्ते पर हमला
‘अल जजीरा’ टीवी चैनल की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि मंगलवार शाम को पाकिस्तानी सेना का काफिला पंजगुर इलाके से गुजर रहा था। यह काफिला यहां एक तलाशी अभियान खत्म करके लौट रहा था। इसी दौरान कुछ हथियारबंद लोगों ने काफिले पर फायरिंग शुरू कर दी। इससे पहले की सैनिक पोजीशन ले पाते, नुकसान हो चुका था। हमले में 8 सैनिकों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। 9 सैनिकों को अस्पताल ले जाया गया। इनकी हालत गंभीर बताई गई है।
सेना ने छिपाई हकीकत
बलूचिस्तान के जिस इलाके में पाकिस्तानी फौज पर हमला हुआ, वह राजधानी क्वेटा से 400 किलोमीटर दूर है। यहां बलूचिस्तान आर्मी का कब्जा है। दुर्गम इलाका होने के वजह से यहां पाकिस्तानी फौज आए दिन हवाई हमले करती रहती है। यही वजह है कि यहां के लोग फौज के खिलाफ कई बार विद्रोह कर चुके हैं। मंगलवार को भी फौज के खिलाफ पहले नारेबाजी और प्रदर्शन हुए थे। इसके बाद हमला हुआ। हालांकि, इसकी जिम्मेदारी किसी गुट ने नहीं ली है। पाकिस्तान की फौज और मीडिया ने सिर्फ तीन सैनिकों के मारे जाने की जानकारी दी है।
सीपैक का विरोध
बलूचिस्तान में चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाया जा रहा है। यहां के लोग इसका विरोध कर रहे हैं। बताया जाता है कि इस कॉरिडोर पर 60 करोड़ डॉलर खर्च होंगे। इसका 80 फीसदी चीन देगा। 29 जून को कराची स्टॉक एक्सचेंज पर हमले में भी बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी का ही हाथ बताया जाता है। इस हमले में 9 लोग मारे गए थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो बलूचिस्तान में गश्त पर निकली पाकिस्तानी सैनिकों की है। यहां मंगलवार को आतंकियों ने फौज के काफिले पर हमला कर दिया था।-फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/30dRkv0

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस