चीन ने चेंगदू में अमेरिकी कॉन्स्युलेट बंद किया, अंदरूनी मामलों में दखल देने का आरोप लगाया; ह्यूस्टन में चीनी कॉन्स्युलेट बंद होने के बाद उठाया कदम

चीन ने सिचुआन प्रांत के चेंगदू स्थित अमेरिकी कॉन्स्युलेट को बंद कर दिया है। सोमवार को वहां से अमेरिकी झंडा भी उतार दिया गया। दरअसल, अमेरिका के ह्यूस्टन स्थित चीनी कॉन्स्युलेट में दस्तावेज जलाए जाने की खबर के बाद अमेरिका ने 72 घंटे के अंदर चीन से कांस्युलेट बंद करने को कहा था। चीन की कार्रवाई इसके जवाब में ही है।

चीन ने आरोप लगया है कि चेंगदू कॉन्स्युलेट से जरिए अमेरिका चीन के अंदरूनी मामलों में दखल दे रहा है। चीन की सरकारी मीडिया के मुताबिक चीन ने अमेरिका से कॉन्स्युलेट को सोमवार तक खाली करने को कहा था।

क्या हुआ था ह्यूस्टन के चीनी कॉन्स्युलेट में?
मंगलवार रात करीब 8 बजे (लोकल टाइम) ह्यूस्टन के चीनी कॉन्स्युलेट के पिछले हिस्से में आग की लपटें और धुआं उठता दिखाई दिया। आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस और फायर डिपार्टमेंट को दी। चंद मिनट में इनकी टीमें घटनास्थल पर पहुंचीं। लेकिन, इन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया। कुछ देर बाद आग शांत हो गई। कॉन्स्युलेट के नजदीक एक बिल्डिंग में रहने वाले व्यक्ति ने घटना का ऊपर से वीडियो बनाया। इसमें साफ नजर आ रहा है कि फायबर की कैरेट्स में दस्तावेज लाए जा रहे हैं। इसके बाद अमेरिका ने चीन से कॉन्स्युलेट बंद करने को कहा।

दोनों देशों में तनाव चरम पर
कोरोना महामारी के बाद अमेरिका और चीन में तनाव बढ़ गया है। हाल ही में हॉन्गकॉन्ग में कानून संशोधन को लेकर हालात और खराब हो गए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प लगातार कोविड-19 को चीनी वायरस कहते रहे हैं। हाल ही में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीन के खिलाफ ग्लोबल फ्रंट बनाने की बात कही थी।

ये खबर भी पढ़ें...
1. चीन पर सख्त कार्रवाई:अमेरिका ने चीन से 72 घंटे में ह्यूस्टन कॉन्स्युलेट बंद करने को कहा; यहां संवेदनशील दस्तावेज जलाए जाने का शक



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चीन के सिचुआन प्रांत के चेंगदू में पीपीई किट पहनकर अमेरिकी कॉन्स्युलेट में जाते हुए चीनी अधिकारी। चीन ने यह कॉन्स्युलेट बंद कर दिया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hwq4z0

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस