न्यूयॉर्क में भारतीय, ताइवानी और तिब्बती अमेरिकियों ने चीन के खिलाफ प्रर्दशन किया, बायकॉट चीन के नारे लगाए

भारतीय मूल के नागरिकों ने शुक्रवार रात न्यूयॉर्क के टाइम्स स्कवायर में चीन के खिलाफ प्रदर्शन किया। खास बात ये है कि इसमें ताइवान और तिब्बती मूल के अमेरिकी नागरिक भी शामिल हुए। इन सभी ने चीन विरोधी बैनर और पोस्टर लेकर प्रदर्शन किया। साथ ही बायकॉट चीन के नारे लगाए।
15 जून की रात गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। चीन के भी 43 सैनिक और अफसर मारे गए थे। हालांकि, चीन ने इसे अब तक इसे कबूल नहीं किया।

संक्रमण का डर भी नहीं
चीन के खिलाफ इन लोगों में गुस्से का आलम यह था कि इन्होंने संक्रमण संबंधी चेतावनी के बावजूद चीन विरोधी प्रदर्शन किया। हाल के कुछ दिनों में अमेरिका के कई दूसरे शहरों में भी चीन विरोधी प्रदर्शन देखने मिले हैं। इस दौरान लोगों के हाथों में भारत, ताइवान और तिब्बत के झंडे भी थे। यहां कुछ लोगों ने चीन के प्रोडक्ट्स का बायकॉट भी शुरू कर दिया है।

चीन के कारोबार को चोट पहुंचाना जरूरी
टाइम्स स्कवायर पर हुए प्रदर्शन में शामिल कई लोगों ने कहा कि चीन में बनी चीजों का बायकॉट किया जाना जरूरी है। इन लोगों के मुताबिक, अगर चीन से निपटना है तो सबसे पहले उसके आर्थिक हितों पर लगाम लगानी होगी। भारतीयों के संगठन अमेरिकन इंडिया पब्लिक अफेयर्स कमेटी के प्रेसिडेंट जगदीश शेवानी ने कहा- चीन ने भारतीय सैनिकों पर हमला करके अपना असली चेहरा दिखा दिया है। सिर्फ भारत ही नहीं वो कई देशों को परेशान कर रहा है।

चीन में मुस्लिम भी परेशान
जगदीश ने कहा- चीन खुद अपने देश के नागरिकों के लिए भी मुसीबत बनता जा रहा है। वहां के शिनजियांग प्रांत में उईगर मुस्लिमों के अधिकार छीन लिए गए हैं। प्रदर्शन में शामिल तिब्बती नागरिकों ने कहा कि चीन की वजह से उनकी संस्कृति खतरे में पड़ गई है। हजारों लोगों को जेल रखा गया है। तिब्बती नेता दोर्जी तेस्तेन ने कहा- हम भारत और अमेरिका से अपील करते हैं कि वो चीन का मुकाबला करें। चीन पर वक्त रहते काबू पाना जरूरी है।

भारत-चीन सीमा विवाद पर आप ये भी खबरें पढ़ सकते हैं...
1.सीमा विवाद: चीन के कमांडिंग ऑफिसर समेत 40 सैनिक मारे गए; 24 घंटे में चीन का दूसरा बयान, कहा- गलवान वैली हमेशा से हमारी रही है
2.चीन के साथ विवाद की पूरी कहानी: 58 साल में चौथी बार एलएसी पर भारतीय जवान शहीद हुए, 70 साल में बतौर पीएम मोदी सबसे ज्यादा 5 बार चीन गए
3.गलवान के 20 शहीदों के नाम: हिंसक झड़प में शहीद हुए 20 सैनिक 6 अलग-अलग रेजिमेंट के, सबसे ज्यादा 13 शहीद बिहार रेजिमेंट के

4.शहीद बताया जवान जिंदा निकला: भारतीय जवान की कल शहादत की खबर मिली थी, उसने आज खुद पत्नी को फोन कर बताया- जिंदा हूं
5.भारत-चीन झड़प की आंखों देखी: दोपहर 4 बजे से रात 12 बजे तक एक-दूसरे का पीछा कर हमला करते रहे; भारत के 17 सैनिक नदी में गिरे



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
न्यूयॉर्क के टाइम्स स्कवायर में हुए चीन विरोधी प्रदर्शन में भारत के अलावा ताईवान और तिब्बत के नागरिक भी शामिल हुए। इन लोगों ने बायकॉट चीन के नारे लगाए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dZF0Ua

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान