चीन टेक्नोलॉजी के जरिए उइगरों के घर के अंदर तक नजर रख रहा, महिलाओं के गर्भाशय में उपकरण लगाकर बांझ बनाया जा रहा

चीन कई सालों से उइगर समुदाय का सफाया करने के लिए तरह-तरह की रणनीति बनाता रहा है। हाल के सालों में चीनी सरकार ने टेक्नोलॉजी के जरिए नरसंहार करना शुरू किया है। लोगों के घरों के अंदर तक नजर रखी जा रही है। महिलाओं को बांझ बनाया जा रहा है।अमेरिका में रहने वाली उइगर लेखक रेयान असत ने द फॉरेन पॉलिसी में एक आर्टिकल के जरिए चीनी नरसंहार को बयां किया है। रेयान ने लिखा कि नरसंहार यानी जीनोसाइड केवल किसी समुदाय के लोगों की बड़े पैमाने परहत्या करने को ही नहीं कहते हैं। जीनोसाइड कन्वेंशन के अनुसार यह कई प्रकार से होता है, जैसे-

  • किसी समुदाय की हत्या करना
  • समुदाय को गंभीर शारीरिक या मानसिक नुकसान पहुंचाना
  • समुदाय में बच्चों को पैदा होने देने से रोकना
  • समुदाय के बच्चों को जबरन दूसरे समूहमें भेज देना

चीन भी इस कन्वेंशन का सदस्य है।फिर भी वह अपने ही कम्युनिटी के खिलाफ कन्वेंशन के कई मानकों को तोड़कर नरसंहार कर रहा है।

शिनजियांग में ग्रिड मैनेजमेंट सिस्टम लागू
रेयान के मुताबिक, चीन ने शिनजियांग प्रांत में ग्रिड मैनेजमेंट सिस्टम लागू किया है। इसके जरिए वह उइगरों की जिंदगी के धार्मिक, पारिवारिक, सांस्कृतिक और सामाजिकसमेत हर पहलू पर नजर रख सकता है। इस सिस्टम के तहत शहरों और गावों को करीब 500-500 लोगों के वर्ग में बांटा गया है। हर वर्ग का एक पुलिस स्टेशन है, जिसके जरिए लोगों पर करीब से निगरानी रखी जाती है।

रोज लोगों के पहचान पत्र,डीएनए सैंपल, उंगलियों के निशान चेक किए जाते हैं। वीडियो सर्विलांस, स्मार्टफोन से हर एक व्यक्ति का डेटा कलेक्ट किया जाता है। रेयान के भाई एकपार असत उइगर बिजनेसमैन हैं। चीन की सरकार ने उन्हें घृणा फैलाने के आरोप में 15 साल जेल की सजा सुनाई है।

महिलाओं के गर्भाशय में जबरन डिवाइस लगाई
उइगर समुदाय में सबसे ज्यादा दिक्कत महिलाओं को उठानी पड़ी। 2017 में शिनजियांग सरकार नेकैंपेन शुरू किया था। मकसद था कि बर्थ कंट्रोल कानून को तोड़ने वाला एक भी केस नहीं आने देना। इसके चलते सरकार ने महिलाओं के गर्भाशय में जबरन डिवाइस लगा दी थी ताकि वे प्रेग्नेंट न हों सकें। 2015 से 2018 के बीच उइगर समुदाय की जनसंख्या वृद्धि दर 84% कम हो गई। 2017 और 2018 के बीच शिनजियांग के एक जिले में 124% बांझ महिलाएं और 117% विधवा महिलाएं बढ़ गईं।

सरकार की अनुमति के बाद ही हट सकते हैं उपकरण
2018 में चीन में आबादी थामने के लिए जितनी महिलाओं के गर्भाशय में उपकरण लगाए गए, उसमें 80% केवल शिनजियांग की थीं, जबकि शिनजियांग की आबादी चीन का आबादी का केवल 1.8% है। इन उपकरणों को केवल सरकार की अनुमति के बाद ही ऑपरेशन करके हटाया जा सकता है। 2019 में शिनजियांग के कासगर शहर में केवल 3% शादीशुदा महिलाओं ने ही बच्चों को जन्म दिया। चीनी सरकार उइगर समुदाय के सफाए के लिए हर तरकीब अपना रही है।

ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...
1.
अमेरिका में चीन का विरोध:भारतवंशी अमेरिकियों ने चीनी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया, कहा- चीन के साथ आर्थिक रिश्ते तोड़ें दुनिया के बड़े देश

2.चीन पर गंभीर आरोप:अमेरिका ने कहा- मुस्लिम महिलाओं का जबरन गर्भपात और पुरुषों की नसबंदी करा रही चीन की सरकार, दुनिया ने ऐसा दमन कभी नहीं देखा



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चीन उइगर मुस्लिमों को उनके रिवाज तक नहीं निभाने देता है। दाढ़ी बढ़ाने तक पर लोगों को नजरबंद कर लिया जाता है। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hjvrS8

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान