पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की, जवाब में यूएन ने कहा- इसे भारत के साथ मिलकर सुलझाएं

पाकिस्तान ने एक बार फिर यूएन सिक्योरिटी काउंसिल में कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की। इस पर सुरक्षा परिषद ने कहा- कश्मीर भारत और पाकिस्तान का आपसी मुद्दा है। इसे दोनों देश मिलकर सुलझाएं। सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य देशों में से चार अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और रूस भारत के पक्ष में रहे। चीन ने पहले की तरह पाकिस्तान का समर्थन किया।

यून में भारत के स्थाई प्रतिनिधी टीएस त्रिमूर्ति ने- सिक्योरिटी काउंसिल की बैठक बेनतीजा खत्म हुई। यह अनौपचारिक रही। इसे रिकार्ड नहीं किया गया। करीब-करीब सभी देशों ने माना कि कश्मीर वास्तव में भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है। काउंसिल को इस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है।

पाकिस्तान ने तीसरी बार उठाया था कश्मीर का मुद्दा
पाकिस्तान ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद यूएन में तीसरी बार यह मुद्दा उठाया। इसके लिए उसने लेटर लिखा था। यूएन के ज्यादातर डिप्लोमैट ने कहा- अनुच्छेद 370 को हटाए एक साल पूरा हो गया है। इसलिए पाकिस्तान की तरफ से इस मुद्दे को उठाए जाने की कोशिश तय थी। चीन उसकी मदद कर रहा था। चीन ने ही ‘एनी अदर बिजनेस’(एओबी) नियम के तहत इस पर चर्चा की मांग की थी। इस चर्चा में कोई भी सदस्य किसी भी मुद्दे को काउंसिल में रख सकता है।

पाकिस्तान को मिला इंडोनेशिया का साथ
इस बार पाकिस्तान को चीन के अलावा इंडोनेशिया का भी साथ मिला। रोटेशनल पॉलिसी के तहत इंडोनेशिया को बैठक की अगुआई करनी थी। लिहाजा, उसने इस प्रस्ताव पर चर्चा की मांग में पाकिस्तान का साथ दिया। हालांकि, बाद में इस तरह की रिपोर्ट्स भी आईं कि इंडोनेशिया भी भारत के साथ है। उसने भी कश्मीर को भारत और पाकिस्तान के बीच का मामला बताया।

कश्मीर पर भारत- पाकिस्तान से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें:

1.पाकिस्तान ने नया नक्शा जारी किया:जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को पाकिस्तान का हिस्सा बताया; भारत ने कहा- यह राजनीतिक इरादे से की गई बेहूदगी है

2.कश्मीर पर भारत की दो टूक:भारत ने कहा- दुनिया जानती है कि पाकिस्तान 40 हजार आतंकियों का गढ़ और पनाहगाह, हर हमले के तार वहीं से जुड़ते हैं



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बुधवार को कश्मीर के डोडा जिले तैनात सुरक्षाबल। 5 अगस्त को यहां अनुच्छेद 370 हटाने का एक साल पूरा हो गया। इस दौरान घाटी में सुरक्षा इंतजाम सख्त थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3ieUxSm

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस