विस्कॉन्सिन में अश्वेत व्यक्ति को बच्चों के सामने पुलिस ने कई गोलियां मारी, घायल व्यक्ति की हालत खतरे से बाहर; दो महीने में यह दूसरी ऐसी घटना

अमेरिका में अश्वेतों के साथ ज्यादती का मामला एक बार फिर सामने आया है। विस्कॉन्सिन शहर के केनेशा इलाके में रविवार को दो पुलिसकर्मियों ने अश्वेत जैकब ब्लेक को उसके बच्चों के सामने पीठ कई गोलियां मार दी। गोलियां लगने के बाद जैकब को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। जैकब के वकील बेन क्रम्प ने इस पूरी घटना का एक वीडियो भी शेयर किया है। इसमें पुलिसकर्मी एक एसयूवी में घुसने की कोशिश करने के बाद जैकब पर गोलियां चलाते नजर आ रहे हैं।

घटना से नाराज लोगों ने केनोशा कोर्टहाउस के सामने प्रदर्शन किया। इसे देखते हुए केनोशा में कर्फ्यू लगा दिया गया है। अमेरिका में बीते 2 महीने में किसी अश्वेत पर पुलिस के गोली चलाने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले 12 जून को अटलांटा के जॉर्जिया में गिरफ्तारी के दौरान 27 साल के रेशर्ड ब्रूक्स को अफसर ने गोली मार दी थी।

पुलिस ने मामले की जांच शुरू की
केनोशा पुलिस ने विस्कॉन्सिन क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिविजन को जांच करने के लिए कहा है। जांच केनोश के काउंटी डिप्टी शेरिफ की अगुआई में होगी। इसकी रिपोर्ट डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी मिशेल डी ग्रेवली को सौंपी जाएगी। इसके बाद ग्रेवली ही फैसला लेंगे कि अफसरों पर कौन से आरोप लगाए जाएंगे। अटॉर्नी ग्रेवली ने कहा है कि फलहाल जांच शुरुआती चरण में है। इस बीच ऐसी खबरें आ रही हैं कि गोली चलाने वाले पुलिस अफसर को छुट्‌टी पर भेज दिया गया है।

25 मई को अश्वेत फ्लॉयड की मौत हो गई थी

मिनेपोलिस में 25 मई को जॉर्ज फ्लॉयड (40) को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया था। एक पुलिस अफसर ने उसे सड़क पर दबोचा और अपने घुटने से उसकी गर्दन को करीब 9 मिनट तक दबाए रखा। थोड़ी देर में उसकी हरकत बंद हो जाती है। उसे अस्पताल में ले जाया जाता है। वहां डॉक्टर कहते हैं कि उसकी मौत हो चुकी है। फ्लॉयड के हाथों में हथकड़ी थी। वह गुहार लगाता रहा, लेकिन पुलिस वाले ने घुटना नहीं हटाया।

फ्लॉयड के समर्थन में दुनियाभर में विरोध

फ्लॉयड की मौत के बाद इस घटना का जोरदार विरोध हुआ। अकेले अमेरिका में ही 140 शहरों में प्रदर्शन हुए। सरकार को 40 शहरों में कर्फ्यू लगाना पड़ा। ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, स्पेन, इटली, ऑस्ट्रेलिया, जापान, डेनमार्क, नीदरलैंड्स, फिनलैंड और दक्षिण अफ्रीका में भी हजारों लोग विरोध जताने सड़कों पर उतरे।

आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

1. हैवानियत के 8 मिनट 46 सेकंड : जब अमेरिकी पुलिस ने अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड को तड़पाकर मार डाला

2. पुलिस हिरासत में अश्वेत की मौत पर करीब 20 शहरों में प्रदर्शन; ह्यूस्टन में 200 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार, डेट्रॉयट में एक की मौत



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अश्वेत जैकब ब्लेक के समर्थन में सोमवार की शाम केनोशा के कोर्टहाउस के सामने प्रदर्शन करते लोग। फिलहाल इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3huGmJ1

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान