नेपाल के गांव पर चीन के कब्जे की खबर देने वाले पत्रकार की संदिग्ध मौत; लापता होने के बाद नदी में मिला शव

नेपाल के गांव पर चीनी के कब्जे का खुलासा करने वाले पत्रकार बलराम बनिया की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। 13 अगस्त को नेपाल के मांडु जिले में बागमती नदी के किनारे हाइड्रोपॉवर प्रोजेक्ट के पास उनका शव मिला। 11 अगस्त को परिवार ने उनके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बानिया के चेहरे पर चोट के निशान पाए गए हैं।

गुरुवार को आखिरी बार बनिया को बाल्खु नदी के किनारे टहलते देखा गया था। उनके मोबाइल फोन की आखिरी लोकेशन भी इसी जगह मिली थी। हालांकि, कुछ देर बाद बानिया का फोन स्विच ऑफ हो गया था। परिवार ने पुलिस स्टेशन में उनके गायब होने की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। पुलिस उनका पता लगाने की कोशिश कर रही थी। इसी दौरान शुक्रवार को उनका शव बरामद हो गया।उनके चेहरे पर चोट के भी निशान मिले हैं।

रुई गांव में कब्जे की खबर दी थी
काठमांडु पोस्ट के मुताबिक, बलराम बनिया एक नेपाली अखबार कांतिपुर डेली में काम करते थे। पहले वह राजनीति और संसद कवर करते थे। बाद में उन्होंने शासन और ब्यूरोक्रेसी पर रिपोर्टिंग की। उन्होंने गोरखा जिले के रुई गांव में चीन के कब्जे की खबर ब्रेक की थी। भारतीय मीडिया में उनकी खबर का काफी जिक्र भी हुआ था।

60 साल से चीन का कब्जा
खबर के मुताबिक, रुई गांव में 60 साल से चीन का राज चल रहा है। नेपाल की सरकार ने कभी इसका विरोध नहीं किया। नेपाल सरकार के आधिकारिक नक्शे में भी यह गांव नेपाल की सीमा के भीतर ही दिखाया गया है। गोरखा जिले के रेवेन्यू दफ्तर में भी रुई गांव के लोगों से टैक्स वसूली के दस्तावेज हैं। हालांकि, यहां नेपाल सरकार ज्यादा एक्टिव नहीं है। शायद यही वजह है कि इस इलाके पर चीन ने कब्जा कर लिया है।

नेपाल प्रेस यूनियन ने की जांच की मांग
पत्रकार बलराम की संदिग्ध मौत पर नेपाल प्रेस यूनियन ने सरकार ने इसकी जांच की मांग की है। यूनियन के महासचिव अजय बाबू शिवकोटि ने कहा कि सच जनता के सामने आना चाहिए। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि यह एक्सीडेंट है, सुसाइड है या फिर मर्डर।

नेपाल से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...
1. चीनी कब्जे पर नेपाल में उठी आवाज:नेपाल के तीन सांसदों की मांग- चीन ने हमारे 4 जिलों की 158 एकड़ जमीन पर कब्जा किया, प्रधानमंत्री इसे वापस दिलाएं
2. सुलह की पहल:9 महीने बाद 17 अगस्त को भारत-नेपाल बातचीत करेंगे; नेपाली विदेश मंत्री बोले- सीमा विवाद के गुलाम नहीं बन सकते



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बलराम बनिया ने शासन और ब्यूरोक्रेसी पर लंबे समय तक रिपोर्टिंग की है।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3asJZN4

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस