राफेल इंडक्शन सेरेमनी में शामिल होने 10 सितंबर को भारत आएंगी फ्लोरेंस पार्ली, कोरोना के बीच विदेशी नेता की यह पहली यात्रा

फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली 10 सितंबर को भारत पहुंचेंगी। वे यहां अंबाला एयर फोर्स बेस पर होने वाले राफेल जेट्स इंडक्शन सेरेमनी में शामिल होंगी। अपनी यात्रा के दौरान फ्लोरेंस रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर वार्ता करेंगी। साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से भी मुलाकात करेंगी।

भारत को जुलाई में पांच राफेल फाइटर जेट्स का पहला बैच मिला। 10 सितंबर को राफेल औपचारिक रूप से इंडियन एयरफोर्स में शामिल हो जाएगा।

पार्ली के साथ स्पेशल विमान से फ्रांस के रक्षा अधिकारी और रक्षा उद्योग से जुड़ा प्रतिनिधिमंडल भी यहां पहुंचेगा। फ्रांस में कोरोना को लेकर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद किसी भी फ्रांस के मंत्री की यह पहली विदेश यात्रा होगी।

गलवान हिंसक झड़प पर अफसोस जताया था

चीन के साथ जारी तनाव के बीच पहली बार किसी भी विदेशी नेता का यह पहला दौरा होगा। 15 जून को गलवान वैली में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे। इसके बाद फ्रांस की रक्षा मंत्री ने राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखकर दुख जताया था।

36 में से 30 फाइटर जेट्स होंगे और 6 ट्रेनिंग एयरक्राफ्ट

भारत ने फ्रांस के साथ 2016 में 58 हजार करोड़ रुपए में 36 राफेल फाइटर जेट की डील की थी। 36 में से 30 फाइटर जेट्स होंगे और 6 ट्रेनिंग एयरक्राफ्ट होंगे। ट्रेनर जेट्स टू सीटर होंगे और इनमें भी फाइटर जेट्स जैसे सभी फीचर होंगे।

ये भी पढ़ें...

राफेल लाने वाले पायलट्स की कहानी:कमांडिंग ऑफिसर ग्रुप कैप्टन हरकीरत ने पहला विमान लैंड किया, 7 पायलट लेकर आए पांच विमान



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
गलवान हिंसक झड़प के बाद फ्रांस की रक्षी मंत्री फ्लोरेंस ने राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखकर दुख जताया था। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2ZfGlSb

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान