अमेरिका के 12 राज्यों के 100 जंगलों में आग फैली, 10 लाख से ज्यादा लोग घर छोड़ने को मजबूर; ब्राजील के जंगलों में लगी आग पराग्वे तक पहुंची

दुनिया के तीन देश अमेरिका, ब्राजील और पराग्वे वैश्विक महामारी के दौर में वाइल्ड फायर (जंगल की आग) से जूझ रहे हैं। अमेरिका में पिछले एक माह से आग लगी हुई है, जो 12 पश्चिमी राज्यों में 100 से ज्यादा जंगलों में फैल गई है। इनमें सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य कैलिफोर्निया और ओरेगन है। इन दो राज्यों में जंगल की आग 4250 वर्ग किमी क्षेत्र में फैल गई है। दोनों राज्यों के करीब 10 लाख लोगों को घर छोड़ना पड़ा है।

मंगलवार रात अमेरिका के उत्तर कैलिफोर्निया की वाइन काउंटी में आग भड़क गई। इसकी चपेट में आकर तीन लोगों की मौत हो गई। वहीं, 70 हजार लोगों को बचा लिया गया। अधिकारियों ने बताया कि 15 हजार से ज्यादा दमकलकर्मी आग बुझाने में लगे हैं। हेलीकॉप्टर और हवाई जहाज की मदद ली जा रही है। समुद्र के किनारे के इलाकों में 70-80 किमी की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। इससे आग और तेजी से फैल रही है।

ब्राजील: आग में जले सैकड़ों जानवर
ब्राजील के पेंटानल के जंगलों में लगी भीषण आग से सैंकड़ों जानवरों की मौत हो गई है। ब्राजील में दुनिया का सबसे बड़ा वेटलैंड जंगल है। लेकिन इस भयावह आग के कारण जमीन की नमी खत्म हो गई है। ब्राजील में फैली आग पराग्वे तक पहुंच गई है।

ब्राजील के पेंटानल के जंगल में से झुलस कर मरे एक मगरमच्छ के पास खड़े गिद्ध।

पराग्वे: राजधानी के ऊपर छाया धुआं
पराग्वे में आग बुधवार को भड़क गई। इसका धुआं राजधानी असंसियन के ऊपर छा गया। यह आग ब्राजील से होते हुए यहां पहुंची। आग पर काबू नहीं पाया जा सका है। यदि यह आग समय पर न बुझी तो यह बोलिविया तक पहुंच सकती है।

जंगल में आग लगने के बाद पराग्वे की राजधानी राजधानी असंसियन के ऊपर कुछ इस तरह धुआं फैला नजर आया।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फोटो अमेरिका के कैलिफोर्निया सेंट हेलेना की है। यहां आग की चपेट में आकर कई घर जल गए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34ggE5J

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस