शेख सबा का 91 साल की उम्र में निधन, लंबे समय से अमेरिका में इलाज करा रहे थे

कुवैत के अमीर शेख सबा अल-अहमद अल-सबा की मंगलवार को अमेरिका के एक अस्पताल में निधन हो गया। वे 91 साल के थे और काफी समय से बीमार चल रहे थे। न्यूज एजेंसी स्पुतनिक के मुताबिक, अमीर के निधन की पुष्टि उनके एक मंत्री ने की।

वे शेख जबर अल-सबा के निधन के बाद जनवरी 2006 में कुवैत के अमीर बने थे। वे शेख जबर-अल सबा के चौथे बेटे हैं। अल जजीरा के मुताबिक, शेख सबा जुलाई में इलाज के लिए अमेरिका गए थे। उन्हें लाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने विमान भेजा था। इस पर कुवैत के क्राउन के लेटर लिखकर उन्हें थैंक्स कहा था।

2002 में उन्होंने अपेंडिक्स हटवाया था

इससे पहले 2002 में उन्होंने अपेंडिक्स हटवाया था। इसके दो साल के बाद पेस मेकर फिट कराया और 2007 में उन्होंने अमेरिका में यूरीन नली की सर्जरी कराई। फिलहाल, अमेरिका में ही उनका इलाज चल रहा था। कुवैत के टीवी चैनलों ने अपने रेगुलर प्रोग्राम को रोक दिया। जब भी गल्फ अरब स्टेट के सत्तारूढ़ परिवार के किसी सीनियर मेंबर की मौत होती है, तो टीवी चैनल ऐसा करते हैं।

कुवैत में अमेरिकी दूतावास ने कहा- अमीर शेख ने इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता लाने के लिए अपना जीवन समर्पित किया।

जॉर्डन में 40 दिन का शोक

जॉर्डन ने 40 दिनों का शोक घोषित किया है। जॉर्डन के राजा किंग अब्दुल्ला ने ट्वीट किया- आज हमने एक महान भाई और एक बुद्धिमान नेता खो दिया जो जॉर्डन से प्यार करता था।

2017 में इलाज के लिए भारत आए
शेख सबा 2017 में इलाज के लिए भारत आए थे। उन्हें नोएडा के जीपी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। वे आठ पत्नियों और 30 प्रतिनिधिमंडल के साथ यहां आए थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो 26 नवंबर 2012 की है, जब अमीर शेख सबा अहमद लंदन पहुंचे थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jfdl4T

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस