पैंगॉन्ग लेक के दक्षिणी इलाके में मात खाने के बाद पूर्वी क्षेत्र में अवैध ढांचे बना रहा चीन, भारतीय सेना ने निगरानी बढ़ाई

लद्दाख सीमा पर चीन ने भारतीय सैनिकों के खिलाफ नया मोर्चा खोल दिया है। पैंगॉन्ग सो लेक के दक्षिणी इलाके में इंडियन आर्मी के मजबूत होत ही चीनी सैनिक पूर्वी क्षेत्र में जुट गए हैं। चीनी सैनिकों ने इस इलाके में अवैध ढांचे बनाना शुरू कर दिया है। इसी इलाके में 7 सितंबर को फायरिंग भी हुई थी।

सरकारी सूत्रों के मुताबिक भारतीय सैनिकों के इस इलाके में दो अहम चोटियों पर कब्जा के बाद चीनी सैनिकों की हरकतें बढ़ी है। यहां चीन ने अपने सैनिकों की तादाद बढ़ा दी है। वे ज्यादा सामान और आने जाने के लिए जरूरी चीजें भी जुटा रहे हैं। इसके बाद भारतीय सेना ने भी निगरानी बढ़ा दी है।

पैंगॉन्ग झील का उत्तरी इलाका 8 अलग-अलग फिंगर एरिया में बंटा है। भारत का दावा है कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल फिंगर 8 से शुरू होता है और फिंगर 4 तक जाता है। चीनी सेना एलएसी को नहीं मान रही। चीन के सैनिक फिंगर 4 के पास डटे हुए हैं। वे फिंगर 5 से 8 के बीच ढांचे बना रहे हैं।

दो हफ्तों में दो बार आमने सामने आई भारत और चीन की सेना

पिछले दो हफ्तों में भारतीय और चीनी सेना दो बार आमने-सामने आई हैं। 31 अगस्त की दोपहर भी चीन सेना ने भारतीय इलाके पर कब्जे की कोशिश की थी जिसे भारतीय सेना ने रोका था। जबकि इससे पहले 29-30 अगस्त की रात चीन की साजिशों को नाकाम करते हुए भारतीय सेना ने पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी हिस्से में मौजूद अहम चोटियों, ब्लैक टॉप और हेलमेट टॉप पर कब्जा कर लिया था।

जिन चोटियों पर फिलहाल भारतीय सेना का कब्जा है वह रणनीतिक रूप से काफी अहम मानी जाती है। यहां से चीनी सैनिक कुछ मीटर की दूरी पर ही हैं। रविवार और सोमवार की रात चीनी सैनिकों ने इस चोटी पर कब्जे की साजिश रची थी। लेकिन, भारतीय सेना की स्पेशल ऑपरेशन बटालियन ने न सिर्फ उन्हें खदेड़ दिया, बल्कि यह पूरी चोटी अपने कब्जे में ले ली।

लद्दाख सीमा पर भारत चीन के बीच जून से तनाव है

भारत और चीन के बीच इस साल जून से ही तनाव जारी है। गलवान घाटी में 15 जून की रात भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। चीन के सैनिकों ने रात के समय कांटेदार तारों से लिपटे रॉड और डंडों से भारतीय सैनिकों पर हमला किया था। इसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थे। चीन के भी 40 सैनिकों के मारे जाने की खबरें आई थीं। इसके बाद से ही दोनों देशों की ओर से सैन्य स्तर पर तनाव करने के लिए बातचीत हो रही है। हालांकि, कई चरणों की बातचीत के बाद भी अब तक कोई हल नहीं निकल सका है।

आप भारत-चीन सीमा विवाद से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

1. चीन को माकूल जवाब:भारतीय सेना ने पैगॉन्ग सो झील के दक्षिणी हिस्से में अहम चोटी पर कब्जा किया; चीन ने कहा- भारत से तनाव बढ़ने का खतरा

2. चीनी मीडिया की धमकी:ग्लोबल टाइम्स ने लिखा- भारत का चीन से कोई मुकाबला नहीं, अमेरिका की मदद से भी युद्ध नहीं जीत सकता



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
लद्दाख में बुधवार को फॉरवर्ड पोस्ट की ओर जाती सेना की एक गाड़ी। 7 सितंबर के बाद से भारत ने चीन से सटी सीमा पर कई जगहों पर सैनिकों की संख्या बढ़ा दी है।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3he3QB9

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस