ट्रम्प ने कोरोना को लेकर झूठ बोला, किम जोंग उन से संबंधों पर बात की और सेना को अपशब्द कहे; जानें और भी

अमेरिका में चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में खोजी पत्रकार बॉब वुडवर्ड की किताब 'रेज' ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की चिंता बढ़ा दी है। इस किताब में वुडवर्ड ने ट्रम्प को लेकर कई दावे किए हैं। यह अगले हफ्ते मार्केट में आ जाएगी। वुडवर्ड ने किताब के लिए ट्रम्प के 18 इंटरव्यू किए। आइए पढ़ते हैं उनकी किताब के पांच बड़े दावे...

1. ट्रम्प ने जानते हुए भी कोरोना महामारी पर झूठ बोला
किताब में बताया गया है कि ट्रम्प को कोरोनावायरस की गंभीरता के बारे पता था। वे जानते थे कि वायरस घातक और बहुत संक्रामक है। इसके बावजूद उन्होंने झूठ बोला। ट्रम्प ने यहां तक कहा कि बच्चों का इम्यून सिस्टम कोरोना के खिलाफ पर्याप्त मजबूत है।

वुडवर्ड की किताब के मुताबिक, 19 मार्च को एक इंटरव्यू में ट्रम्प ने उनसे कहा- मैं इसे कम घातक ही बताना चाहता था और अभी भी यही करूंगा। क्योंकि मैं डर का माहौल नहीं बनाना चाहता। उन्होंने कहा था- वायरस को लेकर चौंकाने वाली जानकारी मिली है। यह केवल बूढ़े या वयस्कों को ही नहीं प्रभावित करता बल्कि, युवा भी इससे संक्रमित होते हैं।

अप्रैल में जिस समय ट्रम्प देश को फिर से खोलने की दलीलें दे रहे थे तभी दूसरी ओर वुडवर्ड से कह रहे थे कि यह वायरस इतनी तेजी से फैलता है कि भरोसा नहीं करेंगे।

2. ट्रम्प प्रशासन के अधिकारियों के मुताबिक वह 'खतरनाक'
राष्ट्रपति ट्रम्प को उनके प्रशासन के अधिकारी ही खतरनाक और राष्ट्रपति पद के अयोग्य मानते थे। किताब में ट्रम्प के पूर्व डिफेंस सेक्रेटरी जिम मैटिस और नेशनल इंटेलिजेंस के डायरेक्टर डैन कोट्स की मई 2019 को हुई बातचीत का उल्लेख है। कोट्स ने कहा था कि रूस के पास ट्रम्प के लिए कुछ है। ट्रम्प का रूस के लिए दोस्ताना रवैया डरावना लगता है। दोनों ने कहा था कि उन्हें ट्रम्प के खिलाफ खड़ा होना पड़ सकता है।

3. ट्रम्प ने सेना और जनरलों के बारे में गलत बोला
वुडवर्ड की किताब के मुताबिक, ट्रम्प ने 2017 में एक मीटिंग के दौरान अपने ट्रेड एडवाइजर पीटर नवारो से सेना के अधिकारियों के बारे में गलत बोला था। इसके साथ ही वुडवर्ड से बातचीत में ट्रम्प को साउथ कोरिया की रक्षा में खर्च होने वाले बजट पर आपत्ति थी। इसके लिए उन्होंने अमेरिकी सेना को बहुत आपत्तिजनक शब्द बोले थे।

साउथ कोरिया की रक्षा करने पर महंगी कीमत चुकाने पर अमेरिकी सेना के बारे में बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। वुडवर्ड के मुताबिक, वे तब सन्न रह गए जब ट्रम्प ने कहा कि हम साउथ कोरिया को सुरक्षा दे रहे हैं, इसलिए ही वह दुनिया में बना हुआ है। वुडवर्ड ने यह भी बताया कि ट्रम्प तब भी बहुत भड़के थे जब कोट्स ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि रूस अमेरिका के इलेक्शन सिस्टम में खतरा पैदा कर रहा है।

4. अश्वेतों के बारे में राय
वुडवर्ड के मुताबिक, जब उन्होंने ट्रम्प से पूछा कि क्या उन्होंने अश्वेतों के दर्द और गुस्से को समझने की कोशिश की है। ट्रम्प ने उत्तर दिया- नहीं, फिर पलटकर पूछा- क्या तुमने कूल-एड (एक प्रकार की कोल्ड ड्रिंक) पिया है। वुडवर्ड लिखते हैं कि उन्होंने कई बार घुमा-फिराकर नस्ल को लेकर ट्रम्प की समझ जानने की कोशिश की, लेकिन वह बार-बार यही कहते रहे कि कोरोना में अर्थव्यवस्था बिगड़ने से हालात बिगड़े हैं।

5. रूस और नॉर्थ कोरिया के नेताओं से रिश्ते
ट्रम्प ने वुडवर्ड को नॉर्थ कोरिया के लीडर किम जोंग-उन और उनके बीच लिखे गए लेटर्स भी दिखाए। किताब में इसका जिक्र किया गया है। इन लेटर्स में दोनों एक दूसरी की चापलूसी कर रहे हैं। किम ने एक लेटर में लिखा था कि उनका रिश्ता एक काल्पनिक मूवी की तरह है। वहीं, ट्रम्प ने किम से रिश्तों पर कहा था- आप एक महिला से मिलते हैं। फिर आपको एक ही सेकंड में पता चल जाता है कि बात आगे बढ़ने वाली है या नहीं।

ट्रम्प ने अपने कैंपेन के रूस से संबंध को लेकर चल रही कई जांचों की भी शिकायत की। उन्होंने कहा कि इन सब से राष्ट्रपति के रूप में उनकी क्षमता और पुतिन से रिश्ते प्रभावित हो रहे हैं। ट्रम्प ने कहा- पुतिन ने मुझसे एक मीटिंग में कहा- मुझे पता है कि आपके लिए हमारे साथ डील करना बहुत मुश्किल है। इस पर ट्रम्प ने कहा- तुम सही हो।

ये खबर भी पढ़ सकते हैं...

1. अमेरिकी चुनाव पर ओपिनियन:अमेरिका में राजनीतिक अपमान का खेल; बाइडेन सिर्फ दलीलों के दम पर चुनाव नहीं जीत सकते, कस्बाई वोटर्स का भी भरोसा जीतना जरूरी

2. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव:ट्रम्प की कैम्पेन टीम के पास सिर्फ 30 करोड़ डॉलर कैश बचा, जुलाई में 110 करोड़ डॉलर थे; टीम को फिक्र- दो महीने प्रचार कैसे करेंगे



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
किम से साथ अपनी केमिस्ट्री बताते हुए ट्रम्प ने कहा- जब किसी महिला से मिलो तो एक सेकंड में पता चल जाता है कि बात आगे बढ़ेगी या नहीं। इस तरह किम से मिलकर लगा था कि बात बढ़ेगी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3m7T03j

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस