Posts

Showing posts from October, 2020

जिन वोटरों ने किसे वोट देना है, इसका मन नहीं बनाया- वे इस चुनाव का नतीजा तय कर सकते हैं

Image
74 साल के जॉन हॉलैंड खुद को सियासी तौर पर आजाद बताते हैं। मायने ये कि न तो वे रिपब्लिकन्स के समर्थक हैं और न डेमोक्रेट्स के। उम्मीदवार देखकर तय करते हैं कि वोट किसे देना है। वे उन वोटरों में शामिल हैं, जिन्होंने यह फैसला नहीं किया कि इस बार किसे वोट देना है। हॉलैंड कहते हैं- क्या आपको लगता है कि मैं अपने बच्चों के दादा के तौर पर डोनाल्ड ट्रम्प को पसंद करूंगा? नहीं। उन्होंने मास्क पहना और वोटिंग करने गए। चार साल में काफी कुछ बदल गया चार साल पहल तक हॉलैंड जैसे वोटर्स दोनों पार्टियों की नीतियां और कैंडिडेट देखने के बाद भी तय नहीं कर पाते थे कि वोट किसे देना है। लेकिन, आखिरी वक्त पर नीतियां ही देखते और वोट करते। इस साल बहुत कम वोटर्स ऐसे हैं जिन्होंने यह तय नहीं किया है कि वोट किसे देना है। लेकिन, इस साल कुछ अहम राज्यों के ऐसे काफी वोटर्स हैं जिन्होंने किसे वोट देना है, इसका मन नहीं बनाया। और ध्यान रखिए ये ये निर्णायक साबित हो सकते हैं। ट्रम्प से नाराजी पिछले चुनाव में कुछ वोटर्स ऐसे थे जो दोनों पार्टियों को लेकर निगेटिव थे। कुछ मानते थे कि ट्रम्प खराब हो सकते हैं, लेकिन डेमोक्रेट्स स

अमेरिका में 24 घंटे में एक लाख नए केस, स्पेन में लॉकडाउन के विरोध में हिंसा भड़की

Image
दुनिया में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 4.63 करोड़ से ज्यादा हो गया है। 3 करोड़ 34 लाख 79 हजार 314 मरीज रिकवर हो चुके हैं। अब तक 11.99 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। अमेरिका में एक दिन में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं और यह वर्ल्ड रिकॉर्ड है। यहां शनिवार को कुल 1 लाख 233 मामले सामने आए। स्पेन में सरकार ने सख्ती दिखाते हुए लॉकडाउन लगाया तो सड़कों पर हिंसक झड़पें शुरू हो गईं। अमेरिका में हालात बिगड़े अमेरिका में महज दो दिन बाद राष्ट्रपति चुनाव होना है। इसके पहले यहां संक्रमण का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। शनिवार को यहां एक लाख 233 मामले सामने आए। उसने भारत को पीछे छोड़ दिया। जहां सितंबर में एक दिन में 97 हजार 894 मामले सामने आए थे। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने यह जानकारी दी है। फिक्र की बात यह है कि इलेक्शन की रैलियां जारी हैं और इनमें हजारों लोग बिना किसी सावधानी के शामिल हो रहे हैं। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प खुद न तो मास्क लगा रहे हैं और न सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। शुक्रवार को यहां 99 हजार नए संक्रमित मिले थे। स्पेन में हिंसा

7 डिग्री तापमान में वोटिंग के लिए 5 घंटे इंतजार मंजूर, कहते हैं- ट्रम्प को हराएंगे तो ही कोरोना से मुक्ति

Image
न्यूयॉर्क (अमेरिका) से भास्कर के लिए मोहम्मद अली: दोपहर का वक्त है। आसमान में घने बादल छाए हैं। ऐसा लग रहा है कि कुछ ही देर में बारिश शुरू हो सकती है। अक्टूबर के आखिरी दिन न्यूयॉर्क के मौसम ने करवट लेना शुरू कर दिया है। तापमान 7 डिग्री सेल्सियस है। लेकिन मैनहट्टन के वोटिंग बूथ के बाहर वोट देने वालों की कतार लंबी होती जा रही है। यहां लोग अपने राष्ट्रपति, उच्च और निचले सदन के प्रतिनिधि को चुनने के लिए आए हैं। न्यूयॉर्क स्टेट में पहली बार इलेक्शन-डे (3 नवंबर) से पहले वोटिंग हो रही है। हालांकि ‘जल्दी वोटिंग’ की परंपरा अमेरिका के कई राज्यों में पहले से रही है। इस बार कोरोना वायरस की वजह से भीड़ को कम करने के लिए कई राज्यों ने 9 दिन पहले ही वोटिंग शुरू की है। 38 साल की वॉरडे खताब एक फिजियोथैरेपिस्ट के तौर पर न्यूयॉर्क की एक मशहूर यूनिवर्सिटी में काम करती हैं। वोटिंग बूथ के बाहर दो घंटे से खड़ी हैं। वोट देने में लगने वाले वक्त को जानने के लिए उन्होंने फोन में टाइमर लगा रखा है। कहती हैं- ‘अगर दो घंटे और कतार में खड़ा होना पड़े तो खड़ी रहूंगी। लेकिन वोट दिए बगैर नहीं जाऊंगी।’ ट्रम्प के पोस्टर की

3 दिन में दूसरी बार चर्च पर आतंकी हमला; पादरी को गोली मारकर फरार हुआ दहशतगर्द

Image
फ्रांस में चर्च पर आतंकी हमले रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। 3 दिनों में दूसरी बार असलहों से लैस एक आतंकी ने चर्च पर हमला कर दिया। घटना लियोन शहर की है। यहां शनिवार को असलहों से लैस एक आतंकी ने चर्च के बाहर ऑर्थोडॉक्स पादरी को गोली मार दी। फिलहाल पादरी अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है। हमले में घायल पादरी ग्रीस के नागरिक हैं। हमले के बाद फरार हुए आतंकी हमला करने के बाद आतंकी मौके से फरार हो गया है। पुलिस के मुताबिक, सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी की पहचान की जा रही है। जल्द ही उसे पकड़ा जाएगा। फ्रांस के आंतरिक मंत्रालय ने भी घटना पर दुख जताया। ट्वीट किया ''दक्षिण-पूर्वी शहर लियोन में यह घटना हुई है। सुरक्षा के लिहाज से सिक्योरिटी बढ़ा दी गई है।'' तीन दिन पहले नीस में चर्च पर हमला हुआ था 29 अक्टूबर को ही नीस शहर में हमलावर ने एक महिला का सिर कलम कर दिया और चर्च के बाहर 2 लोगों की चाकू मारकर हत्या कर थी। नीस के मेयर क्रिस्टियन एट्रोसी ने इसे आतंकवादी घटना बताया था। घटना के कुछ घंटों बाद आतंकी पकड़ा गया था। वह मूल रूप से ट्यूनीशिया का नागरिक था। वो

टेंशन में खड़े पाकिस्तानी पीएम इमरान और विदेश मंत्री शाह की फोटो अभिनंदन की रिहाई वाली रात की है? जानें सच

Image
क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर एक मीम वायरल हो रहा है। फोटो में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और शाह महमूद खड़े दिख रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि ये फोटो उस रात की है, जब विंग कमांडर अभिनंदन की पाकिस्तान से रिहाई हुई थी। विंग कमांडर अभिनंदन को पिछले साल फरवरी में एयर स्ट्राइक के दौरान पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया था। फिर अभिनंदन रिहा भी हो गए थे। डेढ़ साल पुराने मामले को लेकर 2 दिन पहले पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में नया खुलासा हुआ है। असेंबली में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन (PML-N) के नेता अयाज सादिक ने खुलासा किया कि, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक अहम मीटिंग में कहा था कि अगर हम अभिनंदन को नहीं छोड़ते हैं, तो भारत रात 9 बजे तक हमला कर देगा। टेंशन में दिख रहे पाकिस्तान के पीएम और विदेश मंत्री की फोटो को इसी खुलासे से जोड़कर शेयर किया जा रहा है। और सच क्या है ? वायरल फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च करने से हमें पाकिस्तान की न्यूज एजेंसी के 3 साल पुराने ट्वीट में भी यही फोटो मिली। यानी साफ है कि फोटो को अभिनंदन की रिहाई वाली डेढ़ साल पुरानी घटना से कोई संबं

ट्रम्प बोले- कोरोना से हो रही मौतों से डॉक्टरों को फायदा हो रहा है, मैं व्हाइट हाउस में ही रहूंगा

Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में सिर्फ चंद दिन बाकी हैं। इस बीच देश में कोरोनावायरस के मामले भी रिकॉर्ड तेजी से बढ़ रहे हैं। लेकिन, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अब भी बेफिक्र नजर आते हैं। इतना ही नहीं, अब तो वे डॉक्टरों पर भी आरोप लगाने लगे हैं। मिशिगन की एक रैली में ट्रम्प ने कहा कि कोरोनावायरस से हो रही मौतों से डॉक्टरों को फायदा हो रहा है। ट्रम्प ने भी भरोसा जताया कि वे ही व्हाइट हाउस में रहेंगे। न्यूज एंकर का भी मजाक उड़ाया मिशिगन की रैली में फॉक्स न्यूज की होस्ट लाउरा इन्ग्राम भी मौजूद थीं। वे मास्क लगाए हुए थीं। ट्रम्प ने उनकी ओर देखकर कहा- आप सियासी तौर पर तो बिल्कुल सही काम कर रही हैं। ट्रम्प ने डेमोक्रेटिक राज्यों की सरकारों वाले राज्यों और उनके गवर्नर्स पर भी तंज कसा। कहा- आप लोगों को डरा रहे हैं। जहां देखिए सिर्फ लॉकडाउन और प्रतिबंधों की बात हो रही है। क्या ऐसे ही हम इस महामारी का मुकाबला करेंगे। देश और लोगों को घरों में कैद होने से क्या महामारी खत्म हो जाएगी। इसका मुकाबला करना होगा। खास बात यह है कि ट्रम्प की इस रैली में शामिल हजारों लोगों में से ज्यादा बिना मास्क के नजर आए

फ्रांस में एक दिन में 49 और इटली में 31 हजार केस, बेल्जियम में सोमवार से कर्फ्यू लगेगा

Image
दुनिया में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 4.58 करोड़ से ज्यादा हो गया है। 3 करोड़ 32 लाख 37 हजार 845 मरीज रिकवर हो चुके हैं। अब तक 11.93 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। यूरोपीय देश संक्रमण की दूसरी लहर से सहम गए हैं। फ्रांस में शुक्रवार को फिर एक दिन में करीब 50 हजार मामले सामने आए। इटली में संक्रमण की दूसरी लहर भी जानलेवा साबित हो रही है। यहां 24 घंटे में 31 हजार मामले सामने आए। बेल्जियम सरकार ने दबाव के आगे झुकने से इनकार कर दिया है। उसने कहा है कि सोमवार से लॉकडाउन लगाया जाएगा। फ्रांस में मुश्किल जारी फ्रांस में सरकार ने लॉकडाउन लगाया। इसके बावजूद यहां संक्रमण कम होता नजर नहीं आता। हालांकि, हेल्थ मिनिस्ट्री ने उम्मीद जाहिर की है कि इसे जल्द काबू में लाया जा सकेगा। लॉकडाउन और प्रतिबंधों का असर अगले कुछ दिनों में देखने मिल सकता है। फ्रांस में शुक्रवार को 49,215 नए केस दर्ज किए गए। इसी दौरान 256 संक्रमितों की मौत हो गई। अब तक यहां कुल 36 हजार 565 लोगों की मौत हो चुकी है। कुल मामले 13 लाख 31 हजार 984 हैं। पेरिस के एक हॉस्पिटल में

यूएई में सड़कों से लेकर कारखानों तक बिहार चुनाव की चर्चा, यहां रह रहे बिहारी चाहते हैं राज्य में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बने

Image
(शानीर एन सिद्दीकी) इस वक्त हम मौजूद हैं दुबई के यूपी एन बिहार रेस्त्रां में। यहां गेट पर खड़े युवक नीतीश और तेजस्वी की जीत-हार का हिसाब-किताब लगा रहे हैं। इसी तरह की चर्चाएं यूएई की सड़कों से लेकर कारखानों तक आम हैं। एक अनुमान के मुताबिक, यहां बिहार के 5 लाख लोग काम करते हैं। सरकारी आंकड़े बताते हैं कि हर साल वर्क वीसा पर बिहार से 70 हजार लोग यहां आते हैं और ये लोग बिहार की इकोनॉमी में सालाना दो हजार करोड़ रुपए का योगदान देते हैं। विदेश में रहने वालों का डेटा रखा जाए दुबई में इंजीनियरिंग कंपनी सिवान टेक्निकल कॉन्ट्रैक्टिंग और यूपी एन बिहार रेस्त्रां के मालिक अनुज सिंह भी नई सरकार से उम्मीदें लगाए बैठे हैं। वे बताते हैं कि उनकी नई सरकार से मांग है कि विदेशों में रह रहे लोगों का डेटा रखा जाए। इसके लिए नीतीश सरकार ने बिहार फाउंडेशन के तहत एक अच्छी शुरुआत की थी, पर यह योजना आगे नहीं बढ़ सकी। वहीं, आयल एंड गैस इंजीनियर नवीन चंद्रकला कुमार बताते हैं कि बिहार से आने वाले ब्लू कॉलर वर्कर की तीन सबसे बड़ी जरूरत सावधानी, सुरक्षा और सहायता है। वे कहते हैं कि एक राज्य से हर साल लाखों लोग काम करने

ट्रम्प के दौर में अमेरिका ने अपना सम्मान खो दिया, उनकी फैमिली सेपरेशन पॉलिसी बहुत क्रूर रही

Image
ये कैटलॉग तैयार करना भी बेहद मुश्किल काम है कि डोनाल्ड ट्रम्प के चार साल राष्ट्रपति रहने के दौरान हमने क्या-क्या गंवाया। जब मैं इन बातों को लिख रहा हूं तब तक कोरोनावायरस के चलते 2 लाख 25 हजार अमेरिकी नागरिक मौत का शिकार बन चुके हैं। महीनों से हमारे यानी अमेरिकी बच्चे स्कूल नहीं गए हैं। बहुत जल्द देश का बड़ा हिस्सा थैंक्सगिविंग भी सेलिब्रेट नहीं कर पाएगा। बच्चों को परिवार से जुदा कर दिया ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने क्रूर फैमिली सेपरेशन पॉलिसी बनाई। बहुत मुमकिन है कि इसका शिकार बने 545 बच्चे अब कभी अपने पैरेंट्स से न मिल पाएं। अग्रणी लोकतंत्र के तौर पर अमेरिका अपना रुतबा और सम्मान खो चुका है। हमने सुप्रीम कोर्ट की जज रूथ बेंदर गिन्सबर्ग को खोया। सेकंड वर्ल्ड वॉर के बाद यह पहला मौका जब इतने अमेरिकियों ने नौकरियां गंवाईं। इनके साथ उन सांस्कृतिक घटनाओं को हुआ नुकसान भी जोड़ लीजिए, जो ट्रम्प के दौर में हुआ। पिछले चार साल का अनुभव जब मैं पिछले चार साल अपनी तरह से देखता हूं तो उसमें ऐसा लगता है कि जैसे इस प्रेसिडेंट का दौर किसी ब्लैकहोल की तरह रहा। अपनी तरह के और अलग नुकसान हुए। हर वक्त यह म

तुर्की में 7 तीव्रता का भूकंप, कई इमारतें गिरीं; 4 लोगों की मौत और 120 घायल

Image
तुर्की और ग्रीस में शुक्रवार शाम भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7 मापी गई है। तुर्की में ज्यादा नुकसान की खबर है। यहां 4 लोगों की जान गई और 120 लोग घायल हो गए हैं। यहां कई इमारतें भी जमींदोज हो गईं। ग्रीस में झटकों के बाद लोग दहशत में घरों से बाहर आ गए। तुर्की के आपदा प्रबंधन विभाग ने बताया कि केवल बाराकली जिले में कम से कम 10 इमारतें गिर गईं। स्थानीय मीडिया में चल रहे कई वीडियोज में गिरी हुई इमारतें दिखाई दे रही हैं। कई अपार्टमेंट की दीवारों में बड़ी दरारें भी आ गईं हैं। बता दें कि तुर्की का इजमिर प्रांत एक्टिव फॉल्ट लाइन पर है। प्रमुख उत्तरी अनातोलियन फॉल्ट लाइन के कारण 1999 में इस्तांबुल के पास काफी शक्तिशाली भूकंप आया था। इसमें 17,000 से ज्यादा लोग मारे गए थे। सोशल मीडिया यूजर ने पोस्ट किया वीडियो अलग-अलग रही भूकंप की तीव्रता तुर्की के आपदा और आपातकालीन प्रबंधन प्रेसीडेंसी ने बताया कि भूकंप का केंद्र एजियन सागर में 16.5 किलोमीटर गहराई पर था। यूरोपियन-मेडिटेरियन सीसमोलॉजिकल सेंटर ने कहा कि भूकंप की तीव्रता 6.9 थी। इसका केंद्र समोस के ग्रीक आ

नीस में हमला करने वाला ट्यूनीशिया का रहने वाला था, वो इटली से फ्रांस पहुंचा

Image
नीस शहर के एक चर्च में गुरुवार को तीन लोगों की हत्या करने वाला आतंकी मूल रूप से ट्यूनीशिया का नागरिक था। वो इटली से फ्रांस पहुंचा था। आरोपी की उम्र करीब 20 साल है। फ्रांस के एंटी टेरर डिपार्टमेंट ने यह जानकारी दी। इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि इस मुश्किल घड़ी में अमेरिका फ्रांस के साथ खड़ा है। यूरोपीय यूनियन ने भी कहा है कि इस तरह के हमले बर्दाश्त नहीं किए जा सकते। पिछले महीने इटली आया था एंटी टेरर डिपार्टमेंट के जीन फ्रेंकोइस रिकार्ड ने मीडिया से कहा- हमलावर की पहचान ट्यूनीशिया के नागरिक के तौर पर की गई है। वह 20 सितंबर को इटली से फ्रांस आया था। 9 अक्टूबर को पेरिस पहुंचा। उसके पास एक धार्मिक ग्रंथ भी मिला। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में वो गंभीर रूप से घायल हुआ है। पेरिस में उसका इलाज चल रहा है। हमले में घायल हुए 44 साल के चौथे व्यक्ति की हालत गंभीर बनी हुई हैं। हमलावर के बारे में पहले से कोई इंटेलिजेंस इनपुट नहीं मिला था। ट्रम्प ने कहा- अमेरिका मुश्किल में फ्रांस के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने नीस आतंकी हमले की निंदा की। कहा

फ्लोरिडा के एक ही क्षेत्र में ट्रम्प और बाइडेन की रैलियां, ट्रम्प बोले- ऐतिहासिक जीत मिलेगी

Image
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव बिल्कुल करीब है। 3 नवंबर को इलेक्शन डे के पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उन्हें चुनौती दे रहे डेमोक्रेट कैंडिडेट जो बाइडेन एक ही दिन फ्लोरिडा पहुंचे। दोनों पार्टियों के लिए यह अहम राज्य है। यहां के टाम्पा क्षेत्र में दोनों ने एक घंटे के अंतर से रैलियां कीं। ट्रम्प की रैली में भीड़ ज्यादा थी। यहां उन्होंने जीत का भरोसा जताया। वहीं, बाइडेन ने वायरस और इकोनॉमी पर ट्रम्प को घेरा। ट्रम्प बोले- ऐतिहासिक लाल लहर टाम्पा की इस रैली में ट्रम्प के साथ पत्नी मेलानिया भी पहुंचीं। समर्थकों की भीड़ देख उत्साहित ट्रम्प ने कहा- हम जीत का नया इतिहास रचने जा रहे हैं। आप चारों तरफ लाल लहर (रिपब्लिकन पार्टी के झंडे का रंग) देख रहे हैं। फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रम्प ने भी लोगों से ट्रम्प को वोट देने की अपील की। ट्रम्प ने यहां महामारी का जिक्र कम किया। लेकिन, फोकस इकोनॉमिक रिकवरी पर रखा। महामारी पर उन्होंने वैक्सीन का जिक्र किया। कहा- मेरी कोशिश और प्लान यह है कि मैं जल्द आप तक एक सेफ वैक्सीन पहुंचा सकूं। यह बहुत जल्द यानी कुछ हफ्तों में आप तक पहुंच जाएगा। बाइडेन सिर्फ लॉकडाउ

रूस में एक दिन में 18 हजार केस, यूरोप में मरीज एक देश से दूसरे देश में शिफ्ट किए जा सकेंगे

Image
दुनिया में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 4.53 करोड़ से ज्यादा हो गया है। 3 करोड़ 29 लाख 85 हजार 561 मरीज रिकवर हो चुके हैं। अब तक 11.85 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। रूस में संक्रमण की दूसरी लहर का खतरनाक साबित हो रही है। यहां एक दिन में करीब 18 हजार नए मामले सामने आए। वहीं, यूरोपीय देशों ने तय किया है कि अगर एक देश के अस्पतालों में जगह कम पड़ती है तो मरीजों को दूसरे देश के अस्पताल में शिफ्ट किया जा सकेगा। रूस में दूसरी लहर खतरनाक हुई रूस में गुरुवार को संक्रमण के करीब 18 हजार नए मामले सामने आए। इसके बाद हेल्थ डिपार्टमेंट ने देश के सभी अस्पतालों और मेडिकल केयर सेंटर्स को अलर्ट पर रहने को कहा। खास बात ये है कि इसी दौरान 366 लोगों की मौत हो गई। सिर्फ एक राहत की बात है कि इसी दौरान 14 हजार मरीज स्वस्थ भी हुए। हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा- बढ़ती सर्दी की वजह से संक्रमण और तेजी से फैल सकता है और हमने इसके मद्देनजर तैयारियां की हैं। देश में अब तक 11 लाख से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं। यूरोपीय देशों की पहल यूरोपीय देशों में एक देश के मरी

ट्रम्प अमेरिका को अपने बचपन वाले क्वीन्स में बदलना चाहते हैं, जहां गोरे रहते थे

Image
न्यूयॉर्क शहर 5 हिस्सों क्वीन्स, मैनहटन‌, ब्रुकलिन, ब्रोंक्स और स्टैटन आइलैंड में बंटा है। इनमें क्वीन्स सबसे बड़ा है। मेट्रो से उतरते ही जमैका एस्टेट का आलीशान गेट दिखता है। यह यहां का सबसे रिहायशी इलाका है, जिसे ट्रम्प के पिता ने अप्रवासियों की पहुंच से बहुत दूर बसाया था। इसलिए ट्रम्प अपने बचपन को याद करते हुए कहते हैं कि क्वीन्स का एक बड़ा इलाका ‘असभ्य’ था, लेकिन जमैका एस्टेट सुरक्षित जगह थी। पर आज जमैका स्टेट की अंदर और बाहर की दुनिया अप्रवासियों से घिरी है। दोनों तरफ के ज्यादातर लोग ट्रम्प को नापंसद करते हैं। न्यूयॉर्क से श्वेत आबादी गायब हो रही है उन सब में अपवाद ट्रम्प के पुराने पड़ोसी 57 साल के फ्रेड क्विन हैं। बताते हैं कि न्यूयॉर्क से श्वेत आबादी गायब हो रही है। वो याद करते हैं कि ट्रम्प के पिता फ्रेड ब्लू कैडिलैक लिमोजिन से दफ्तर जाते थे। फ्रेड के जर्मन पिता फ्राइडरिच ने कंस्ट्रक्शन का काम शुरू किया था, लेकिन 1918 में स्पेनिश फ्लू में चल बसे। फिर बेटे फ्रेड ने अमीर लोगों के लिए टुडर और विक्टोरियन स्टाइल में बंगले बनाने वाले कॉन्टैक्टर की पहचान बनाई। बड़े-बड़े बंगले लुटियन दि

पाकिस्तान की संसद में लगे मोदी-मोदी के नारे? न्यूज चैनल का दावा पड़ताल में झूठ निकला

Image
क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर न्यूज चैनल ‘इंडिया टीवी’ का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान की संसद में मोदी-मोदी के नारे लगे। न्यूज एंकर दीपक चौरसिया ने भी वीडियो इसी दावे के साथ शेयर किया। टाइम्स नाऊ वेबसाइट की खबर में भी पाकिस्तान की संसद में मोदी के समर्थन में नारे लगने का दावा किया गया है। और सच क्या है? इंडिया टीवी न्यूज चैनल के वायरल वीडियो का बैकग्राउंड साउंड क्लियर न होने के चलते हमने अन्य सोर्सेस पर यही वीडियो तलाशना शुरू किया। Duniya News यूट्यूब चैनल पर भी हमें यही वीडियो मिला। ध्यान से सुनने पर पता चलता है कि बैकग्राउंड से आ रहे जिस शोर को ‘मोदी-मोदी’ बताया जा रहा है। असल में वहां से ‘वोटिंग-वोटिंग’ चिल्लाने की आवाज आ रही है। वीडियो के 6 सेकंड बीतने पर वोटिंग-वोटिंग की आवाज आती है। इसके जवाब में संसद के सभापति ये भी कहते दिख रहे हैं कि - ‘ वोटिंग और सब कुछ होगा, सब्र रखें आप’ । साफ है कि वायरल वीडियो में पाकिस्तान की संसद से मोदी-मोदी नहीं, वोटिंग-वोटिंग की आवाज आ रही है। सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा फेक ह

ट्रम्प हर हाल में जीतना चाहते हैं, उनकी बातों से उनके इरादों की झलक साफ मिल जाती है

Image
अब चुनाव में काफी कम वक्त बचा है। आने वाले दिन और रातें उम्मीदों के साथ तनाव भरी भी होंगी। गुस्सा के साथ कई बार फ्रस्टेशन भी होगी। ओहियो के प्रोफेसर एडवर्ड फोले कहते हैं- जरा सोचिए। अगर ट्रम्प पॉपुलर वोट हासिल कर लें और शांतिपूर्ण सत्ता हस्तांतरण से इनकार कर दें तो क्या होगा? और ये कल्पना नहीं है। वे कई बार सार्वजनिक तौर पर इसकी धमकी भी दे चुके हैं। इस चुनाव में कुछ गंभीर विवादित चीजें हो रही हैं या होने की आशंका है। एक आशंका यह भी है कि चुनाव का फैसला कोर्ट में तय हो। पेन्सिलवेनिया पर नजर इस बार ज्यादातर नजरें पेन्सिलवेनिया पर हैं। कहा जा रहा है कि जो यहां जीत दर्ज करेगा वो इलेक्टोरल कॉलेज में भी बहुमत हासिल कर लेगा। इस राज्य में ट्रम्प 20 हजार वोट्स से आगे हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने एक ट्वीट में कहा था- दौड़ खत्म हो चुकी है। चार साल और अमेरिका को महान बनाने के लिए। हालांकि, जो नए आंकड़े सामने आ रहे हैं, उनमें ये साफ हो जाता है कि ट्रम्प की बढ़त कम हो रही है। ट्रम्प ने कहा था- मैं फिर जीत रहा हूं। मैं मशीनी पॉलिटिशियन नहीं हूं। हम फिर जीतेंगे फोले आगे कहते हैं- ट्रम्प यह दावा करत

महातिर मोहम्मद बोले- मुसलमानों को गुस्सा होने और फ्रांस के लोगों को मारने का अधिकार है

Image
मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद एक बार फिर अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में हैं। महातिर ने कहा कि मुसलमानों को गुस्सा होने और फ्रांस के लाखों लोगों को मारने का अधिकार है। उन्होंने गुरुवार को एक के बाद एक 13 ट्वीट किए। पूर्व पीएम ने लिखा, ''अतीत के नरसंहार के लिए मुसलमानों को यह अधिकार है।'' उनके इस बयान को ट्विटर ने आपत्तिजनक बताते हुए हटा दिया है। महातिर ने ''RESPECT OTHERS'' से अपने ट्वीट की शुरुआत की। लिखा, ''एक 18 साल के चेचेन रिफ्यूजी ने क्लास में पैगंबर के कार्टून दिखाने पर फ्रेंच टीचर सैमुअल पैटी की हत्या कर दी। टीचर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का प्रदर्शन कर रहे थे। एक मुसलमान के तौर पर मैं इस हत्या को अप्रूव नहीं करता। मैं फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन में विश्वास रखता हूं। लेकिन, मुझे नहीं लगता कि इससे किसी का अपमान किया जाना चाहिए।'' फ्रांस के लोगों को सजा देने का मुसलमानों को अधिकार महातिर ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को असभ्य बताया। उन्होंने कहा कि किसी धर्म का अपमान करने वाले एक टीचर की हत्या पर पूरे इस्

​​​​​​​संसद में इमरान के मंत्री बोले- पुलवामा की कामयाबी हमारी कौम की कामयाबी है

Image
पुलवामा हमले का गुनाह आखिरकार पाकिस्तान ने कुबूल कर ही लिया है। इमरान के मंत्री फवाद चौधरी ने गुरुवार को संसद में कहा कि पुलवामा में पाकिस्तान की कामयाबी, हमारी कौम की कामयाबी है। दरअसल, फवाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन (PML-N) के नेता अयाज सादिक के उस बयान पर जवाब दे रहे थे, जिसमें सादिक ने कहा था कि भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को हिरासत में लिए जाने के वक्त एक मीटिंग में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के पैर कांप रहे थे। मैं कहता हूं कि हमने हिंदुस्तान को घुसकर मारा है: चौधरी फवाद चौधरी ने कहा- सादिक कह रहे थे कि कुरैशीजी की टांगें कांप रही थीं। मैं कहता हूं कि हमने हिंदुस्तान को घुसकर मारा है। पुलवामा में जो कामयाबी है, वो इमरान सरकार के नेतृत्व में कौम की कामयाबी है। उस कामयाबी के हिस्सेदार आप लोग हैं और हम लोग हैं। ये हम लोगों के लिए फख्र का मौका है। पाकिस्तानी संसद में ही दिया था PML-N नेता सादिक ने अभिनंदन पर बयान PML-N नेता सादिक ने बुधवार को पाकिस्तानी संसद में कहा था- अभिनंदन के मुद्दे को लेकर कुरैशी ने PPP, PML-N और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा समेत दूसरे ने

फ्रांस के नाइस शहर में चाकू से हमला, दो लोगों की मौत; कुछ दिन पहले टीचर की हत्या हुई थी

Image
फ्रांस में 15 दिन में दूसरी बार आतंकी हमला हुआ। एक सिरफिरे ने चाकू से कुछ लोगों पर हमला कर दिया। घटना में दो लोगों की मौत हो गई। एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है। नाइस के मेयर क्रिस्टियन एट्रोसी के मुताबिक, आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि हमलावर आतंकी का सहयोगी है। कुछ दिन पहले फ्रांस में पैगम्बर साहब का कार्टून क्लास में दिखाने वाले एक हिस्ट्री टीचर की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद से फ्रांस सरकार इस्लामिक संगठनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है। दुनिया के कई देशों में फ्रांस की आलोचना की जा रही है और इसके खिलाफ प्रदर्शन भी हो रहे हैं। अचानक हुआ हमला मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाइस शहर में चाकू से हमले की घटना गुरुवार को हई। एक आदमी ने नोट्रे डैम बेसिलिया इलाके में कुछ लोगों पर अचानक चाकू से हमला कर दिया। यह हिस्सा शहर के बीच में है। मेयर क्रिस्टियन ने इसे साफ तौर पर आतंकी घटना बताया है। गृहमंत्री ने गेराल्ड ने लोगों से कहा है कि वे फिलहाल, इस इलाके में जाने से बचें। कैबिनेट मीटिंग आतंकवाद की इस घटना के बाद फ्रांस सरकार इमर

26 देशों में 20 लाख लोगों के लिए काम करने वाली इस्लामिक चैरिटी बंद; इमरान बोले- एकजुट हों मुस्लिम देश

Image
फ्रांस में हिस्ट्री टीचर की हत्या के बाद सरकार ने इस्लामिक संस्थाओं पर शिकंजा कसना काफी तेज कर दिया है। बुधवार को यहां बाराकासिटी नाम के एक इस्लामिक चैरिटी ऑर्गनाइजेशन को बंद कर दिया गया। यह संस्था 26 देशों में करीब 20 लाख लोगों के लिए काम करती थी। फ्रांस सरकार और राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कुछ दिन पहले कहा था कि इस्लामिक कट्टरपंथ पर सख्ती से प्रहार किया जाएगा। दूसरी तरफ, फ्रांस में इस्लाम के अपमान के विरोध में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का बयान भी आया। उन्होंने कहा- फ्रांस में इस्लामाम के खिलाफ जो कुछ हो रहा है, उसके विरोध में सभी मुस्लिम देशों को एक हो जाना चाहिए। संस्था ने खुद दी जानकारी बाराकासिटी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर बताया कि फ्रांस सरकार ने इस चैरिटी ऑर्गनाइजेशन को तुरंत प्रभाव से बंद कर दिया है। उसने ये भी कहा कि वो अब उस देश से ऑपरेट करना पसंद करेगी जहां उसे राजनीतिक शरण मिलेगी। संस्था के फाउंडर इदरिस शिमेदी ने तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोआन से मदद मांगी है। इदरिस ने ट्वीट में कहा- मैं और मेरी टीम आपके देश में राजनीतिक शरण लेना चाहते हैं। क्योंकि, फ्रांस में ह