हर व्यक्ति हर सेकंड जनरेट कर रहा 1.7 MB डेटा, दुनिया का 90% डेटा 2 साल में हुआ तैयार

दुनिया के तमाम देशों में आज वर्ल्ड स्टेटिसटिक्स डे यानी विश्व सांख्यिकी दिवस मनाया जा रहा है। यूएन स्टेटिस्टिकल कमीशन ने 2010 में इसकी शुरुआत की थी। इसे हर पांच साल बाद 20 अक्टूबर को मनाया जाता है। मतलब यह कि आज तीसरा वर्ल्ड स्टेटिसटिक्स डे है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि स्टेटिसटिक्स आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए बेहद जरूरी है। आंकड़ों को जमा करना, उनका एनालिसिस करना और नतीजे निकालना ही स्टेटिसटिक्स है। यह लोगों और सरकारों को सशक्त बनाता है, ताकि सही दिशा में नीतियां तैयार हो सकें।

मौजूदा डिजिटल युग में तो स्टेटिसटिक्स का महत्त्व और बढ़ गया है। इस समय दुनिया का हर व्यक्ति प्रति सेकंड 1.7 MB डेटा जनरेट कर रहा है। यही वजह है कि दुनिया का 90% डेटा पिछले दो साल में ही जनरेट हुआ है। कहा जा रहा है कि अब डेटा ही नया तेल और नया सोना है। इसमें इंटरनेट, सोशल मीडिया और सर्च इंजन की अहम भूमिका है।

कई ऐसे चौंकाने वाले आंकड़े भी हैं, जो आम धारणा से उलट दुनिया की एकदम नई तस्वीर सामने लाते हैं। जैसे, हमारी आकाशगंगा में मौजूद तारों से कई गुना ज्यादा धरती पर पेड़ हैं। ऐसे में पेश हैं डेटा की दुनिया से जुड़े कुछ दिलचस्प स्टेटिसटिक्स...



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Google Vs Social Media Stats/World Statistics Day 2020 Today | Mobile Phone Search Queries Per Second, Facebook Twitter Time Spending


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3o8DUfa

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था