फ्रांस में एक दिन में 20 हजार से ज्यादा मामले, सरकार ने माना- हालात खराब हो रहे हैं; दुनिया में 3.70 करोड़ केस

दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.70 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 78 लाख 84 हजार 835 से ज्यादा हो चुकी है। मरने वालों का आंकड़ा 10.78 लाख के पार हो चुका है। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। फ्रांस में हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं और यह बात अब वहां की सरकार ने भी मान ली है। शुक्रवार को यहां 20 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए।

फ्रांस : 24 घंटे में 20 हजार मामले
फ्रांस में नेशनल हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने शुक्रवार एक बयान में माना कि देश में संक्रमण की दूसरी लहर बेहद तेजी से फैल रही है। एक ही दिन में यहां 20 हजार 339 हजार नए संक्रमित सामने आए। गुरुवार को भी 18 हजार 129 संक्रमित मिले थे। इसके पहले सोमवार को 18 हजार 746 मामले सामने आए थे। अब सरकार ने साफ कर दिया है कि प्रतिबंधों का पालन न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक अलग बयान में कहा- हम कुछ लोगों की वजह से दूसरे और बड़े समुदाय की जिंदगी खतरे में नहीं डाल सकते। ये मुश्किल वक्त है और नियमों का सही तरीके से पालन करना होगा। हॉस्पिटल में इस वक्त 7 हजार 864 लोग हैं। सरकार की दिक्कत है कि एक हफ्ते में यह संख्या 2 हजार से ज्यादा बढ़ी है। हेल्थ मिनिस्टर ओलिवर वेरन ने कहा- हमारी अपील है कि लोग प्रतिबंधों और कोरोनावायरस के साथ रहना सीखें। हम जितनी ज्यादा सावधानियां रखेंगे, उतना ज्यादा संक्रमण को रोका जा सकेगा।

यूरोप : खतरे के संकेत
यूरोप में संक्रमण की दूसरी लहर के तहत अब तक एक लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। ब्रिटेन, रूस, स्पेन और फ्रांस इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने साफ कर दिया है कि सरकार सोमवार को नए प्रतिबंधों का ऐलान कर सकती है। ताजा प्रतिबंधों का असर जल्द देखने मिल सकता है। माना जा रहा है कि बोरिस जॉनसन सरकरका बार, पब और रेस्टोरेंट्स बंद करने जा रही है। हालांकि, लंदन में शायद ये प्रतिबंध लागू न हों। सरकार पर इकोनॉमी को खुला रखने का भी दबाव है।

बुधवार को ब्रिटेन के एक स्कूल में जाते बच्चे। यहां एक रिसर्च में सामने आया है कि स्कूल और कॉलेज खुलने के बाद से संक्रमण में तेजी आई है।

न्यूजीलैंड : चुनावी फायदा
ब्लूमबर्ग में पब्लिश एक रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमण पर काबू पाने के मामले में न्यूजीलैंड अब तक सबसे कामयाब देश रहा है। यहां की सरकार ने बेहतरीन काम किया और दुनिया के बड़े बिजनेस लीडर्स भी इस बात को मान रहे हैं। इतना ही नहीं ये लोग यहां इन्वेस्टमेंट प्लान भी कर रहे हैं। यहां इकोनॉमिक रिकवरी रेट भी दूसरे देशों से बहुत बेहतर है। इसके लिए जो इंडेक्स रेटिंग जारी की गई है, उसमें न्यूजीलैंड को 238, जापान को 204 और ताइवान को 198 नंबर दिए गए हैं। अमेरिका 10वें नंबर पर है। रिपोर्ट के मुताबिक, जेसिंड अर्डर्न की सरकार ने इतना बेहतर काम किया है कि वे दूसरा चुनाव जीत सकती हैं।

गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कोविड-19 संक्रमण को काबू करने में उनकी सरकार ने बेहतरीन काम किया है और इसका फायदा उन्हें चुनाव में मिलना तय है।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
शुक्रवार को फ्रांस की राजधानी पेरिस के एक बाजार में मौजूद पुलिसकर्मी। देश में शुक्रवार को 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। सरकार ने साफ कर दिया है कि अब विरोध की परवाह नहीं की जाएगी और प्रतिबंधों को सख्ती से लागू किया जाएगा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3lzTrm7

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस