जर्मनी में अप्रैल के बाद संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले, फ्रांस में भी हालात बिगड़े; दुनिया में 3.67 करोड़ केस

दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.67 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 76 लाख 33 हजार 035 से ज्यादा हो चुकी है। मरने वालों का आंकड़ा 10.66 लाख के पार हो चुका है। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। यूरोप के ज्यादातर देशों में संक्रमण की दूसरी लहर खतरनाक साबित होने लगी है। जर्मनी में एक दिन में चार हजार मामले सामने आए। वहीं, स्पेन सरकार ने साफ कर दिया है कि अब पहले से ज्यादा सख्त प्रतिबंध लगाए जाएंगे।

जर्मनी : एक दिन में 4 हजार मामले
जर्मनी की हेल्थ बॉडी रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट ने गुरुवार रात जारी एक बयान में माना कि देश में संक्रमण खतरनाक स्तर पर पहुंचने लगा है। यहां एक दिन में 4 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। इससे भी ज्यादा चिंताजनक बात यह है कि इस हेल्थ बॉडी ने इनके 10 हजार प्रतिदिन तक पहुंचने की आशंका जताई है। हेल्थ मिनिस्टर जेन्स स्पाहन ने कहा- हमने मुश्किल हालात में भी बहुत बेहतर काम कर दिखाया है। संक्रमण को जल्द ही काबू में करने के लिए प्लान तैयार है। इसके लिए सभी समुदायों से भी बातचीत की जा रही है। बर्लिन और फ्रेंकफर्ट में कर्फ्यू लगाया जा चुका है।

फ्रांस : तेजी से बढ़ता संक्रमण
यूरोपीय देशों की बात करें तो सबसे ज्यादा संक्रमण फ्रांस में देखने मिल रहा है। यहां 24 घंटे में कुल 18 हजार 746 नए मामले सामने आए। पॉजिटिव टेस्ट रिजल्ट की दर में 9.1 फीसदी का इजाफा दर्ज किया गया है। खास बात यह है कि यह पिछले महीने से 5 फीसदी ज्यादा है। पिछले महीने यह दर 4.5 प्रतिशत ही थी। हेल्थ मिनिस्टर ओलिवन वेरन ने कहा- हम इस वक्त हाई अलर्ट पर हैं। उम्मीद है कि जल्द ही इन्फेक्शन लेवल को काबू में ले आएंगे।

पेरिस के एक हॉस्पिटल में मरीज का कोरोना सैम्पल लेती नर्स। फ्रांस में गुरुवार को 18 हजार से ज्यादा नए संक्रमित मिले। दो हफ्ते में संक्रमितों का आंकड़ा ढाई लाख से ज्यादा हो गया है।सरकार ने साफ कर दिया है कि जल्द ही नए प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। (फाइल)

न्यूजीलैंड : जेसिंडा को फायदा
ब्लूमबर्ग में पब्लिश एक रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमण पर काबू पाने के मामले में न्यूजीलैंड अब तक सबसे कामयाब देश रहा है। यहां की सरकार ने बेहतरीन काम किया और दुनिया के बड़े बिजनेस लीडर्स भी इस बात को मान रहे हैं। इतना ही नहीं ये लोग यहां इन्वेस्टमेंट प्लान भी कर रहे हैं। यहां इकोनॉमिक रिकवरी रेट भी दूसरे देशों से बहुत बेहतर है। इसके लिए जो इंडेक्स रेटिंग जारी की गई है, उसमें न्यूजीलैंड को 238, जापान को 204 और ताइवान को 198 नंबर दिए गए हैं। अमेरिका 10वें नंबर पर है। रिपोर्ट के मुताबिक, जेसिंड अर्डर्न की सरकार ने इतना बेहतर काम किया है कि वे दूसरा चुनाव जीत सकती हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
गुरुवार शाम जर्मनी के फ्रेंकफर्ट शहर का सूना पड़ा एक पार्क। जर्मनी सरकार ने बर्लिन और फ्रेंकफर्ट में रात का कर्फ्यू लगा दिया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33FTrus

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस