चीन में नेशनल डे पर 8 दिन की छुट्टी; महामारी के बीच 60 करोड़ लोगों की सैर

पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमण फैलाने वाले चीन ने गुरुवार (1 अक्टूबर) को देश की स्थापना की 71वीं सालगिरह मनाई। इसे नेशनल-डे भी कहा जाता है। इसी के साथ पूरे देश में 8 अक्टूबर तक राष्ट्रीय छुट्टियां हो गई हैं। इन्हें सेलिब्रेट करने के लिए देश भर के लोग महामारी के बीच घूमने निकल पड़े हैं। अनुमान है कि महामारी के बीच करीब 60 करोड़ लोग 8 दिन में सफर करेंगे।

चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी के मुताबिक, नेशनल-डे के मौके पर देश भर के सभी प्रमुख स्थल सजा दिए गए हैं। इन्हें देखने और छुट्टियां मनाने के लिए पहले दिन करीब 3.5 करोड़ लोगों ने सफर किया। सबसे ज्यादा 1.8 करोड़ लोगों ने ट्रेन से सफर किया। करीब 1.2 करोड़ लोग हवाई सफर से छुट्टियां मनाने निकले। जबकि 50 लाख लोग महामारी को देखते हुए अपने वाहनों से सफर कर रहे हैं।

1 अक्टूबर 1949 को मिला था नाम- पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना

साल 1912 में क्विंग राजशाही का अंत हुआ और रिपब्लिक ऑफ चाइना बना। यहीं से चीन का आधुनिक इतिहास शुरू हुआ। 1936 में जापान के हमले के खिलाफ चीन ने मजबूती से युद्ध लड़ा। द्वितीय विश्वयुद्ध खत्म होने पर 1945 में जापान ने सरेंडर कर दिया। तब चीन में कम्युनिस्टों और नेशनलिस्टों के बीच जंग छिड़ गई थी।

चीन के लाखों नागरिक मारे गए

4 साल तक देश में सिविल वॉर की स्थिति बनी रही। इस युद्ध में चीन के लाखों नागरिक मारे गए थे। इसके बाद 1 अक्टूबर, 1949 को माओ त्से तुंग ने कम्युनिस्ट पार्टी की जीत का ऐलान किया। फिर संविधान में देश का नाम पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना रखा गया। इस लिहाज से अक्टूबर का पहला सप्ताह चीन में बहुत खास माना जाता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर शंघाई रेलवे स्टेशन की है। गुरुवार को यहां इतनी भीड़ थी कि पैर रखने तक की जगह नहीं थी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2SejfHM

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस