ब्रिटिश कोलंबिया में पंजाब के 8 नागरिकों ने प्रोविंशियल इलेक्शन में जीत हासिल की

ब्रिटिश कोलंबिया के प्रोविंशियल इलेक्शन में पंजाब-मूल के आठ कनाडाई नागरिक को जीत मिली है। चुनाव का रिजल्ट शनिवार देर रात घोषित किया गया। शनिवार को हुए चुनाव में भारतीय मूल के 27 कैंडिडेट मैदान में थे। सभी सात विजेता सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी के हैं। उन्होंने 87 सदस्यीय सदन में 55 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत हासिल किया।

भारतीय-कनाडाई विजेताओं में तीन महिलाएं भी हैं। मानवाधिकार वकील अमन सिंह ने ब्रिटिश कोलंबिया में पहली बार पगड़ीधारी सिख विधायक बनकर इतिहास रचा। हालांकि, इस प्रांत में पहली बार 1986 में एक विधायक के रूप में पंजाबी (मोए सिहोटा) और 2001 में एक सिख (उज्ज्वल दोसांझ) विधायक के रूप में चुने गए थे।

रिचमंड-क्वींसबोरो में विपक्षी लिबरल पार्टी के पूर्व पत्रकार जैस जौहल को हराकर अमन सिंह ने बड़ा उलटफेर किया। भारतीय-कनाडाई की ज्यादातर जीतें भारतीय-प्रभुत्व वाले शहर सरे में हुई, जो वैंकूवर के बाहरी इलाके में स्थित है।

जीतने वाले कैंडिडेट्स में हैरी बैंस जालंधर से

जीतने वाले कैंडिडेट्स में लेबर मिनिस्टर हैरी बैंस, डिप्टी स्पीकर राज चौहान, पूर्व मंत्री जिनी सिम्स और संसदीय सचिव जगरूप ब्रार और रवि कहलों शामिल हैं। बैंस ने लिबरल पार्टी के पॉल बोपाराय को हराकर सरे-न्यूटन की अपनी सीट बरकरार रखी। जालंधर के पास हरदासपुर गांव से आने वाले बैंस 2005 से यह सीट जीत रहे हैं।

उप सभापति राज चौहान ने भी लिबरल पार्टी के तृप्त अटवाल और ग्रीन पार्टी के इकबाल पारेख को हराकर बर्नाबी-एडमंड्स की अपनी सीट बरकरार रखी। चौहान 1973 में छात्र के रूप में पंजाब से कनाडा आए थे। सत्तारूढ़ दल के जगरूप ब्रार ने लिबरल पार्टी के गैरी थिंड को भी पीछे छोड़कर सरे-फ्लीटवुड की अपनी सीट बरकरार रखी।

जगरूप ब्रार ने पांच बार सरे-फ्लीटवुड की सीट जीती

एक पूर्व भारतीय बास्केटबॉल खिलाड़ी, ब्रार ने 2004 से अब तक पांच बार ये सीट जीती है। जीतने वाले पांचवें इंडो-कनाडाई व्यक्ति सत्तारूढ़ एनडीपी के रवि काहलों हैं। उन्होंने ग्रीन पार्टी के अल्मोड़ा में जन्मी नीमा मनराल और लिबरल पार्टी के जेट सनर (जतिंदर) को हराया है।

सिम्स नौ साल की उम्र से कनाडा में हैं

महिला विजेताओं में जेनी सिम्स (जोगिंदर कौर) ने सरे-पैनोरमा में विपक्षी कैंडिडेट डॉ. गुलजार चीमा को हराया। जालंधर के पास पाबवान गांव में जन्मी सिम्स नौ साल की उम्र में कनाडा आ गई थी।

सत्तारूढ़ पार्टी के रचना सिंह ने लिबरल पार्टी के दिलराज अटवाल को हराकर अपनी सरे-ग्रीन टिम्बर्स सीट को बरकरार रखा। सत्तारूढ़ एनडीपी की निक्की शर्मा वैंकूवर-हेस्टिंग्स में जीतीं। ब्रिटिश कोलंबिया की आबादी 50 लाख हैं, जिसमें से लगभग 10% भारतीय मूल के लोग हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Eight Punjab-origin Canadians won the British Columbia provincial elections


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3kohAvD

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था