जयशंकर ने कहा- दोनों देशों की बातचीत जारी, लेकिन कुछ चीजें सीक्रेट हैं, रिश्तों की बुनियाद हिली तो नतीजे दोनों को भुगतने होंगे

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भारत-चीन सीमा विवाद पर चल रही चर्चा पर बात की। गुरुवार को ब्लूमबर्ग इंडिया इकोनॉमिक फोरम में जयशंकर ने कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत जारी है, लेकिन इसमें कुछ चीजें सीक्रेट हैं, लिहाजा किसी भी तरह का पूर्वानुमान लगाने की कोशिश न करें। अगर रिश्तों की बुनियाद हिली, तो खामियाजा भी दोनों देशों को भुगतना होगा।

जयशंकर ने यह भी कहा कि बीते 3 दशकों से भारत-चीन संबंधों की मजबूती इस बात से आंकी जाती रही है कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर कितनी शांति है। समस्या कभी भी भारत ने पैदा नहीं की। सीमा पर तनाव कम करने के लिए दोनों देश लगातार बातचीत कर रहे हैं।

‘किसी तरह का अंदाजा न लगाएं’
मॉडरेटर के यह पूछे जाने पर कि भारत-चीन की बातचीत का क्या नतीजा निकलेगा, इस पर जयशंकर ने फिर कहा कि काम प्रगति पर है। बातचीत जारी है, लेकिन कई चीजें कॉन्फिडेंशियल हैं। अभी सार्वजनिक रूप से कुछ भी कहना सही नहीं होगा। एलएसी से सटे इलाकों में सैन्य टुकड़ी तैनात की गई है। इससे पहले बीते महीनों में ऐसा नहीं किया गया।

जयशंकर के मुताबिक, दोनों देशों (भारत-चीन) के बीच व्यापार के समेत कई मुद्दे आते हैं। इनकी बेहतरी का आकलन एलएसी पर शांति से किया जाता है। सीमा पर शांति बनी रहे, इसके लिए दोनों देशों ने 1993 में कई समझौते किए थे। अगर हम इन समझौतों का सम्मान नहीं करेंगे तो यह रिश्ते बिगड़ने का प्रमुख कारण रहेगा।

15 जून को लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने कंटीले तार से भारतीय जवानों पर हमला किया था। इसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे। चीन के 40 सैनिक मारे गए थे, पर उसने कभी पुष्टि नहीं की। गलवान के बाद दोनों देशों के बीच 7 दौर की बातचीत हो चुकी हैं, पर लद्दाख से सेना हटाने को लेकर अब तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला।

भारत-चीन सीमा विवाद पर आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...
1. गलवान झड़प के 80 दिन बाद पहली बैठक:चीन ने कहा- सीमा विवाद के लिए भारत पूरी तरह जिम्मेदार, भारत की दो टूक- एलएसी पर सेना बढ़ाना समझौते का उल्लंघन
​​​​​​​
2. लद्दाख में तनाव कम करने की कोशिश:भारत-चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक में 5 पॉइंट पर सहमति; बातचीत जारी रखते हुए सैनिक हटेंगे, माहौल बिगाड़ने वाली कार्रवाई नहीं होगी​​​​​​​



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फोटो 9 सितंबर की है। मॉस्को में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) की बैठक में भारत, रूस और चीन के विदेशमंत्रियों की मुलाकात हुई थी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3k2S13b

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस