RAW चीफ सामंत कुमार 9 घंटे काठमांडू में रुके, आला अफसरों से बातचीत की; विजिट के मकसद पर सस्पेंस

रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के चीफ सामंत कुमार गोयल ने बुधवार को अचानक नेपाल की यात्रा की। सामंत यहां सिर्फ 9 घंटे ही रुके। उनकी इस यात्रा के बारे में भारत या नेपाल सरकार की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई है। अगले महीने आर्मी चीफ जनरल मुकुंद मोहन नरवणे भी नेपाल का दौरा करने वाले हैं।

दोपहर में काठमांडू पहुंचे सामंत
नेपाल के अखबार ‘माय रिपब्लिका’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सामंत कुमार दोपहर करीब एक बजे काठमांडू के त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे। उनके साथ कुछ 9 अफसर और थे। एक सूत्र के मुताबिक, सामंत और उनके साथ आए अफसर भारतीय वायुसेना के एक विशेष विमान से नेपाल पहुंचे। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने कुछ हाईलेवल मीटिंग्स कीं। लेकिन, यह किसके साथ थीं, इस बारे में जानकारी नहीं मिल सकी। साथ ही यात्रा का मकसद भी साफ नहीं हो सका।

जून में रॉ चीफ बने थे
सामंत ने पिछले साल जून में रॉ के प्रमुख का पदभार संभाला था। 20 जुलाई को वे नेपाल के दौरे पर आए थे और यहां तीन दिन तक मीटिंग्स कीं थीं। लेकिन, उनका यह दौरा इसलिए खास हो जाता है क्योंकि इस बारे में पहले से कोई जानकारी नहीं दी गई थी। अगले महीने भारत के आर्मी चीफ जनरल नरवणे भी नेपाल आने वाले हैं। उनकी यात्रा की तारीखें अब तक तय नहीं की गई हैं।

कुछ महीने पहले तनाव था
भारत और नेपाल के बीच कुछ महीने पहले तनाव बढ़ गया था। भारत ने लिपुलेख और धारचूला में एक सड़क बनाई थी। नेपाल ने यह कहते हुए इसका विरोध किया था कि यह उसका क्षेत्र है। इतना ही नहीं नेपाल ने एक नया नक्शा भी जारी किया था। इसे यूएन और कई देशों को भेजा था। नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने भी भारत को लेकर बयानबाजी की थी। भारत और चीन के बीच एलएसी पर तनाव चल रहा है। ऐसे में रॉ और कुछ दिनों बाद आर्मी चीफ की यात्रा के कुछ मायने निकाले जा सकते हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भारत ने 8 मई को लिपुलेख से धारचूला तक सड़क का उद्घाटन किया था। भारत और नेपाल की सीमा 1800 किलोमीटर की है। इस सड़क निर्माण पर नेपाल ने ऐतराज करते हुए इसे अपना क्षेत्र बताया था। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34jlGj7

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे