मोदी बोले- कोरोना की वजह से इस बार फैमिली फोटो नहीं ले सके, लेकिन हमारे बीच की दूरियां घट रही हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वियतनाम के प्रधानमंत्री जुआन फुक के साथ 17वीं आसियान (ASEAN) समिट की अध्यक्षता की। इसमें संगठन के सदस्य सभी 10 देश शामिल हुए। कोरोना की वजह से इस बार यह समिट ऑनलाइन की जा रही है। मोदी ने कहा कि कोरोना के चलते इस बार हम फैमिली फोटो नहीं ले पा रहे हैं। लेकिन, हमारे बीच की दूरियां कम हो रही हैं।

समिट में मोदी ने कहा कि भारत और आसियान के संबंध साझा ऐतिहासिक, भौगोलिक और सांस्कृतिक विरासत पर आधारित हैं। भारत और आसियान के बीच हर तरह की कनेक्टिविटी बढ़ाना जरूरी है। पिछले कुछ साल में हम आर्थिक, सामाजिक और डिजिटली करीब आते गए हैं। मुझे यकीन है कि आज की बातचीत हमारे बीच की दूरी को और कम करने में मददगार होगी।

भारत की लुक ईस्ट पॉलिसी के मूल में आसियान

उन्होंने कहा कि भारत और आसियान की रणनीतिक साझेदारी हमारी साझा ऐतिहासिक, भौगोलिक और सांस्कृतिक विरासत पर आधारित है। आसियान हमेशा हमारी एक्ट ईस्ट पॉलिसी का मूल रहा है। भारत की इंडो पेसिफिक ओसियन इनिशिएटिव और आसियान के आउटलुक ऑन इंडो पेसिफिक के बीच कई समानताएं हैं।

हर दो साल में होता है आसियान सम्मेलन

एसोसिएशन ऑफ साउथ ईस्ट एशियन नेशन्स (आसियान) दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों का संगठन है। इसका मुख्यालय इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में है। इसमें ब्रुनेई, कम्बोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं। हर दो साल में ये देश बैठक कर आर्थिक, राजनीतिक, सुरक्षा और सामाजिक विषयों पर चर्चा करते हैं। इस बार यह आयोजन 12 से 15 नवंबर तक हो रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को 17वें आसियान-इंडिया समिट में शामिल हुए। कोरोना के चलते समिट को ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3loHAr7

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे