अमेरिका में कोरोना के कहर का टूटा रिकॉर्डः एक ही दिन में 3260 मौतें

वैश्विक महामारी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका में बुधवार को इससे होने वाली मौतों का रिकॉर्ड एक बार फिर टूट गया। बुधवार को इस बीमारी से वहां 3,260 लोगों की मौत हुई। वहीं, 2 लाख, 26 हजार, 762 नए मामले सामने आए। इससे पहले अमेरिका में कोरोना के कारण एक दिन में सबसे ज्यादा मौत का रिकॉर्ड 15 अप्रैल को बना था। तब एक दिन में 2,752 लोगों की मौत हुई थी।

लगभग पूरे अमेरिका में कोरोना से संबंधित मौतों की संख्या बढ़ी है। यहां मौतों का 7 दिन का औसत आंकड़ा 2,249 रहा है। यह भी रिकॉर्ड है। पिछला रिकॉर्ड 17 अप्रैल को बना था। तब सात दिन का औसत 2,232 था। विशेषज्ञों का मानना है कि रोजाना के आंकड़ों की तुलना में सात दिन का औसत ज्यादा सही तस्वीर पेश करता है।

वहीं, ब्रिटेन में फाइजर की वैक्सीन का उपयोग शुरू हो गया है। कंपनी ने अमेरिका में भी आवेदन कर रखा है। वहां की अथॉरिटी इसके आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत देने पर विचार कर रही है। मालूम हो, थैंक्स गिविंग डे पर अमेरिकी बड़ी संख्या में एक शहर से दूसरे शहर घूमने निकले थे। अब जाकर इसका असर दिखने लगा है।

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना की दूसरी लहर; लग सकता है कड़ा लॉकडाउन
दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने घोषणा कर दी है कि देश मे कोरोना महामारी की दूसरी लहर चल रही है। वेस्टर्न केप, ईस्टर्न केप, क्वाजुलू-नटाल और गुटेंग में संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है। बुधवार को दक्षिण अफ्रीका में 6,709 नए केस सामने आए। इससे वहां कुल संक्रमितों की संख्या 8,28,598 हो गई है। अब तक 22,574 लोगों ने जान गंवाई है। मार्च में कोरोना की पहली लहर आने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने बेहद कड़ा लॉकडाउन लगाया था। अब फिर से वहां कड़ा लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

यूरोपः लंदन नया हॉटस्पॉट बना; ब्रिटेन में स्कूली बच्चों की टेस्टिंग
कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी के साथ लंदन ब्रिटेन की कोविड-19 की ‘राजधानी’ बन गया है। लंदन में कोरोना के मामलों में 40 फीसदी बढ़ोतरी हुई है। दैनिक मौतों का आंकड़ा भी 516 को पार कर गया है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, लंदन कोरोना का नया हॉटस्पॉट बन गया है। इसे लेकर विशेषज्ञों की सलाह है कि लोग क्रिसमस के दौरान घर से बाहर न निकलें।

वहीं, कोरोना की रोकथाम के लिए ब्रिटिश सरकार स्कूली बच्चों की मास टेस्टिंग करेगी। बोरिस जॉनसन सरकार ने गुरुवार को इस बात की घोषणा की। दूसरी ओर फ्रांस सरकार ने गुरुवार को 15 दिसंबर से रात 8 बजे से नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है। यह नए साल तक प्रभावी रहेगा। अच्छी बात यह है कि यूरोप के ज्यादातर देशों में अब कोरोना के मामलों में कमी आई है।

हालांकि, रूस और जर्मनी की स्थिति में खास सुधार नहीं आया है। रूस में बुधवार को 26,190 नए मामले सामने आए। वहां 25 नवंबर के बाद से लगातार रोजाना 25 हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, जर्मनी में बुधवार को 23,928 मामले आए। 13 नवंबर को 40 हजार से अधिक नए केस देखने वाले इटली में 9 दिसंबर को 12,756 मामले आए। ब्रिटेन में 16,578 नए मामले आए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सिंगापुर के क्रूज पर यात्री के संक्रमित की खबर गलत निकली। अब सभी 1700 यात्रियों का क्वारेंटाइन खत्म कर दिया गया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2VZMzng

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल