8 लाख डोज के साथ 70 अस्पतालों से शुरू हुआ ड्राइव, भारतवंशी हरि शुक्ला को पहले फेज में लगेगी वैक्सीन

ब्रिटेन में मंगलवार से वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत होगी। देश के 70 अस्पतालों में इसकी सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। लोगों को फाइजर और बायोएनटेक कंपनी की वैक्सीन लगाई जाएगी। भारतीय मूल के 87 साल के हरि शुक्ला फर्स्ट फेज में टीका लगवाने वालों में शामिल होंगे। उन्हें उनकी पत्नी 83 साल की रंजना शुक्ला के साथ न्यूकैसल रॉयल इंफर्मरी में वैक्सीन लगाए जाएगा।

भारतीय मूल के शुक्ला का जन्म युगांडा में हुआ और 1974 में ब्रिटेन पहुंचे। वे ब्रिटेन में टीचर हैं। रेस रिलेशन के लिए काम करने के चलते उन्हें ब्रिटेन में ऑर्डर ऑफ ब्रिटेश एम्पायर (OBE) भी मिल चुका है। उन्होंने पहले फेज में वैक्सीन के लिए चुने जाने पर कहा कि उम्मीद है कि महामारी जल्द खत्म होगी।

कई स्टेज में चलेगा वैक्सीनेशन ड्राइव

करीब एक हफ्ते पहले फाइजर-बायोएनटेक वैक्सीन को ब्रिटिश रेग्युलेटर ने मंजूरी दी थी। इसके बाद ब्रिटेन इस वैक्सीन इस्तेमाल करने वाला दुनिया का पहला देश है।वैक्सीनेशन ड्राइव कई स्टेज में चलाया जाएगा। पहले स्टेज में 80 से ज्यादा उम्र के लोगों और कुछ हेल्थकेयर स्टाफ को वैक्सीन लगाई जाएगी। ‘द गार्जियन’ के मुताबिक, इंग्लैंड के अलावा वेल्स और स्कॉटलैंड में वैक्सीनेशन शुरू होगा। नॉदर्न आयरलैंड ने कहा है कि वो जल्द ही वैक्सीनेशन शुरू करेगा। हालांकि, उसने इसके लिए तारीख नहीं बताई।

आज यूके के लिए अहम दिन: जॉनसन

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा- आज यूके में कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई का अहम दिन है। आने वाले हफ्तों और महीनों में हमें कोरोना को लेकर सर्दियों की योजना पर ध्यान देना होगा। सभी लोग अपने इलाकों में नियमों का पालन करें। हाथ, चेहरा और जगह की सफाई से जुड़ी बातें याद रखें।

8 लाख डोज के साथ ड्राइव शुरू हो रहा: हैनकॉक

स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने भी वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करने पर खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा- हमें अंधेरी सुरंग में रोशनी नजर आ रही है। हमारे लिए भयानक बीमारी से लड़ाई में आज का दिन यादगार होगा। सरकार 8 लाख डोज के साथ वैक्सीनेशन शुरू कर रही है। हालांकि, हमने 4 करोड़ डोज के लिए आर्डर दे दिया है। इतना डोज देश के 2 करोड़ लोगों के लिए काफी होगा। हर व्यक्ति को दो डोज दिए जाएंगे। पहले डोज के 21 दिन बाद दूसरा डोज दिया जाएगा।

वैक्सीन की स्टोरेज चुनौती

नेशनल हेल्थ सर्विस के लिए सबसे बड़ी चुनौती इस वैक्सीन का स्टोरेज है। एनएचएच के सर्विस प्रोवाइडर चीफ सेफ्रोन कोर्डरी के मुताबिक, पहले 50 हॉस्पिटल्स को चुना ही इसलिए गया, ताकि स्टोरेज कंडीशन्स को भी सही तरीके से परखा जा सके। पिछले कुछ दिनों से वैक्सीन की खेप पहुंच रही हैं। अब तक 8 लाख वैक्सीन की पहली खेप बेल्जियम से ब्रिटेन पहुंच चुकी है। इन्हें माइनस 70 डिसे के टेम्परेचर पर रखा जा रहा है।

सेफ है वैक्सीन

ब्रिटेन में वैक्सीनेशन को जल्द मंजूरी पर सवाल भी उठे थे। लेकिन, यहां की सरकार और रेग्युलेटर ने शंकाओं का खारिज कर दिया। कोर्डरे ने कहा- यह बहुत बड़ी सफलता है। इस पर सवाल उठाना ठीक नहीं है। हम ये जरूर मानते हैं कि इसको बहुत जल्द अप्रूवल मिल गया। उन्होंने कहा- बेफिक्र रहिए। यह वैक्सीन पूरी तरह सेफ है। हम वैक्सीनेट किए गए लोगों की मॉनिटरिंग भी करेंगे। उन्हें कार्ड जारी किया जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भारतीय मूल के हरि शुक्ला (बाएं) और उनकी पत्नी रंजना शुक्ला (दाएं) को पहले फेज में वैक्सीन लगाए जाएगा।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/39POTp1

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश