नवाज की बेटी मरियम ने कहा- सरकार से आर-पार की जंग, इमरान का नाम आज्ञाकारी खान कर देना चाहिए

पाकिस्तान में विपक्षी पार्टियों का गठबंधन (PDM) इमरान सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहा है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने सोमवार को कहा- सरकार से आर-पार की जंग है। हम 13 दिसंबर को किसी भी हाल में लाहौर में रैली करेंगे। इमरान खान ने कहा है कि वे इस रैली को रोकेंगे, लेकिन ऐसा नहीं किया जा सकता है। हालांकि, जिस तरह से वे काम कर रहे हैं, उनका नाम बदलकर आज्ञाकारी खान रख देना चाहिए।

मरियम ने कहा कि जन समर्थन उनके साथ है। लोग सड़कों पर उतर चुके हैं और इस फर्जी सरकार से आजादी चाहते हैं। उन्होंने कहा कि 11 विपक्षी पार्टियों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) के नेता इसके लिए तैयार हैं। हमारे नेता नेशनल असेम्बली से इस्तीफा देने की तैयारी में है।

नया चुनाव कराना चाहती है विपक्षी पार्टियां

PDM के नेता राना सनाउल्ला ने कहा कि इमरान सरकार उपचुनाव करवाना चाहती है। हम ऐसा नहीं होने देंगे। इससे पहले ही हमारे नेता नेशनल असेम्बली से इस्तीफा दे देंगे। उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए- इंसाफ से कुछ पार्टियां गठबंधन तोड़ने वाली हैं। दोबारा चुनाव होकर ही रहेगा, इससे किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा।

इमरान ने दी रैली न निकालने की हिदायत

पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियों की रैली लाहौर स्थित मीनार-ए-पाकिस्तान से शुरू हो सकती है। हालांकि, इमरान ने विपक्षी नेताओं से रैली नहीं निकालने की हिदायत दी है। उन्होंने कहा है कि इस रैली में शामिल होने पर केस किया जाएगा। वहीं, मरियम ने पार्टी कार्यकर्ताओं और विपक्षी नेताओं से कहा कि वे सरकार की ओर से दर्ज कराए जाने वाले मामले का सामना करने के लिए तैयार रहें। सरकार इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकती।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने सोमवार को कहा कि सरकार के विरोध के बाद भी विपक्षी पार्टियां रैली निकालेंगी।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3lVaX3N

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश