मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी सायबर अटैक का शिकार बनी, नीदरलैंड्स में क्रिसमस के पहले पांच हफ्ते का लॉकडाउन

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 7.31 करोड़ के ज्यादा हो गया। 5 करोड़ 13 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 16 लाख 27 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। दुनिया के कई देशों में वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। इस बीच एक खतरा वैक्सीन कंपनियों पर सायबर अटैक का उभर रहा है। मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी इसका शिकार बन गई है। कंपनी ने खुद इसकी पुष्टि की है।

नीदरलैंड्स में क्रिसमस इस बार फीका रहेगा। यहां सरकार ने पांच हफ्ते के सख्त लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है।

मॉडर्ना पर सायबर अटैक
मॉडर्ना वैक्सीन कंपनी ने सोमवार को माना कि सायबर अटैक में उसके कुछ अहम दस्तावेज चोरी हुए हैं। खास बात यह है कि कंपनी को खुद इसकी जानकारी नहीं लगी। कंपनी को इस बारे में पहली सूचना यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी (EMA) ने दी। ‘द गार्डियन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह डॉक्यूमेंट्स तब के हैं जब कंपनी अप्रूवल के लिए सरकारों के पास दस्तावेज भेज रही थी। इसी दौरान डॉक्यूमेंट्स चुरा लिए गए।

EMA का जानकारी देना इसलिए भी अहम है क्योंकि यही यूरोपीय देशों में वैक्सीन को अप्रूवल देने वाली रेग्युलेट्री एजेंसी है। इसने कई महीने पहले ही आशंका जाहिर की थी कि कुछ कंपनियों के वैक्सीन का डाटा एक्सेस किया जा सकता है। बताया जाता है कि फाइजर और बायोएनटेक कंपनी पर भी सायबर अटैक की कई नाकाम कोशिशें हुईं।

नीदरलैंड्स में फीका रहेगा क्रिसमस
नीदरलैंड्स के प्रधानमंत्री मार्क रूट ने देश में पांच हफ्ते का सख्त लॉकडाउन घोषित कर दिया है। रूट ने साफ कर दिया कि फिलहाल, कोरोनावायरस को रोकने के लिए इससे ज्यादा असरदार कोई उपाय नहीं है। उन्होंने कहा- हम सख्त लॉकडाउन लगाने जा रहे हैं। इस दौरान स्कूल, दुकानें, म्यूजियम और जिम बंद रहेंगे। 19 जनवरी के पहले किसी तरह की राहत की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए। हम चाहते हैं कि भविष्य में हालात भयावह होने से रोके जाएं और इसके लिए सख्त कदम तो उठाने ही होंगे।

जिस समय मार्क लॉकडाउन का ऐलान कर रहे थे, उसी वक्त उनके ऑफिस के बाहर हजारों प्रदर्शनकारी सख्ती के विरोध में नारेबाजी और प्रदर्शन कर रहे थे। सरकार ने कहा है कि किसी भी घर में ज्यादा से ज्यादा दो मेहमान ही आ सकते हैं और इसके लिए भी लोकल अथॉरिटीज को जानकारी देनी होगी। हालांकि, माना जा रहा है कि सरकार 24 से 26 दिसंबर के बीच कुछ राहत दे सकती है।

कैलिफोर्निया में हालात खराब
अमेरिका के कैलिफोर्निया में संक्रमण के चलते हालात बेहद खराब हो गए हैं। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस हफ्ते के आखिर तक राज्य के किसी अस्पताल के आईसीयू में लोगों को भर्ती करने के लिए बेड नहीं मिलेंगे। कुछ अस्पतालों में तो अभी से बेड्स खत्म हो गए हैं। ‘द गार्डियन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कैलिफोर्निया के अस्पतालों में इस वक्त सिर्फ 1.5 फीसदी बेड्स खाली हैं।

अमेरिका में कोरोना के चलते हालात भयावह हो गए हैं। कैलिफोर्निया के अस्पतालों में इस वक्त सिर्फ 1.5 फीसदी बेड्स खाली हैं। (फाइल)


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
नीदरलैंड् के हेग शहर में तैनात एक पुलिसकर्मी। यहां सरकार ने पांच हफ्ते का सख्त लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। माना जा रहा है कि 24 से 26 दिसंबर तक कुछ राहत दी जा सकती है क्योंकि इस दौरान क्रिसमस होगा।
Coronavirus Pandemic Country Wise Cases LIVE Update; USA Pakistan China Brazil Russia France Spain Recovery Rate Covid 19 Cases


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3a6gZwm

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश