महिलाओं के हक में आवाज उठाने वालीं मोलवर्दी को ढाई साल की सजा, जासूसी में दोषी करार

ईरान की पूर्व वाइस प्रेसिडेंट शाहीनदोख्त मोलवर्दी को ढाई साल जेल की सजा सुनाई गई है। उन्हें दूसरे देशों को खुफिया जानकारी देने के मामले में शनिवार को दोषी करार दिया गया। कोर्ट ने उनके देश की इस्लामिक सरकार के खिलाफ चलाए गए प्रोपेगैंडा में शामिल होने की बात भी मानी। लोकल मीडिया ने शनिवार को यह जानकारी दी।

हालांकि, मोलवर्दी ने इन आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने कहा- मुझे आज ही सजा की कॉपी मिली है। मैं अगले 20 दिन में इस आदेश के खिलाफ अपील करूंगी।

चार साल तक वाइस प्रेसिडेंट रहीं

मोलवर्दी ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी के कार्यकाल में 2013 से 2017 तक देश की वाइस प्रेसिडेंट रहीं थीं। उन्हें एक साल के लिए नागरिक मामलों पर रूहानी का विशेष सहयोगी भी बनाया गया था।

55 साल की मोलवर्दी पेशे से वकील हैं। वे देश में महिलाओं के हक के लिए आवाज उठाती रही हैं। इसी वजह से वे अक्सर विवादों में भी रहीं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
शाहीनदोख्त मोलवर्दी 2013 से 2017 तक ईरान की वाइस प्रेसिडेंट रही थीं। - फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3lQSLbw

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल