अब नए वायरस ‘डिजीज एक्स’ का खतरा, कोरोना से भी तेज

काेराेना महामारी के वैश्विक संकट के बीच अब नए वायरस ‘डिजीज-एक्स’ के प्रसार की चेतावनी जारी हुई है। अफ्रीकी वायरस इबाेला का पता लगाने वाले डाॅ. जीन जैक्स मुएंब तामफम ने यह चेतावनी जारी की है। डाॅ. तामफम के अनुसार ‘डिजीज-एक्स’ ज्यादा घातक है। कोरोना के मुकाबले यह फैलता भी तेजी से है।

इससे मरने वालों की संख्या इबोला की तुलना में 50 से 90% तक ज्यादा हो सकती है। एक अमेरिकी टीवी चैनल से बातचीत में डाॅ. तामफम ने कहा, ‘आज हम एक ऐसी दुनिया में हैं, जहां नए वायरस बाहर आएंगे। ये वायरस मानवता के लिए खतरा बन जाएंगे। भविष्य में आने वाली महामारी कोरोना वायरस से ज्यादा खतरनाक होगी और यह ज्यादा तबाही मचाने वाली होगी।

कांगाे में ही महिला मरीज में ‘डिजीज-एक्स’ के लक्षण

कांगो के इगेंड में एक महिला मरीज को खून आने के साथ बुखार के लक्षण देखे गए हैं। इस मरीज की इबोला जांच कराई गई। लेकिन यह निगेटिव आई है। डॉक्टरों को डर है कि यह “डिजीज-एक्स’ की पहली मरीज है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक वैज्ञानिकों का कहना है कि ‘डिजीज-एक्स’ महामारी अभी परिकल्पना है, लेकिन अगर यह फैलती है तो पूरी दुनिया में इससे तबाही आएगी।

कौन हैं डॉ. तामफम

डाॅ. तामफम की 1976 में इबोला वायरस का पता लगाने में महत्वपूर्ण भूमिका थी। इबोला वायरस का जब पहली बार पता चला तो कांगो के यामबूकू म‍िशन अस्प्ताल में 88% मरीजों और 80% कर्मचारियों की मौत हो गई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
डाॅ. जीन जैक्स मुएंब तामफम


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hIH8TB

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश