भारत ने कहा- हम हमेशा से रासायनिक हथियारों के खिलाफ, सीरिया के संघर्ष का आतंकी संगठन उठा रहे फायदा

आतंकी संगठनों तक रासायनिक हथियारों के पहुंचने पर भारत ने चिंता जाहिर की है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमुर्ति ने मंगलवार को कहा कि आतंकी संगठन और आतंकियों के पास रासायनिक हथियारों पहुंचने से सिर्फ भारत ही नहीं, पूरे विश्व पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

सीरिया (रासायनिक हथियारों ) पर संयुक्त राष्ट्र सिक्योरिटी काउंसिल (UNSC) मीटिंग में उन्होंने कहा कि आतंकी संगठन सीरिया में सदियों से चले आ रहे चल रहे संघर्ष का फायदा उठा रहे हैं। इससे वे पूरी दुनिया के लिए खतरा बन गए हैं। ऐसे में हम उनके खिलाफ लड़ाई को किसी भी कीमत पर कमजोर नहीं कर सकते।

सीरिया संघर्ष का शांतिपूर्ण समाधान निकाला जाए
उन्होंने कहा कि भारत हमेशा सीरिया संघर्ष का व्यापक और शांतिपूर्ण हल निकालने के पक्ष में रहा है। समस्या का समाधान सीरिया के नेतृत्व में बातचीत और वहां के लोगों को ध्यान में रखकर किया जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि भारत कहीं भी, किसी भी समय, किसी के द्वारा और किसी भी हालात में रासायनिक हथियारों के उपयोग का मजबूती से विरोध करता है। भारत हमेशा से रासायनिक हथियार सम्मेलन का भी पक्षधर रहा है, जिसके जरिए हथियार की इस कैटेगरी के मास डिस्ट्रीब्यूशन को रोका जा सके।

भारत दो साल के लिए अस्थाई सदस्य बना
भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्य के तौर पर एक जनवरी को अपना कार्यकाल शुरू किया है। भारत का कार्यकाल दो साल तक रहेगा। इस पर तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत आठवीं बार सुरक्षा परिषद का सदस्य बना है। भारत के स्थाई प्रतिनिधि के तौर पर शामिल होना मेरे लिए गर्व की बात है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमुर्ति ने कहा कि भारत सिर्फ रासायनिक हथियारों का विरोध ही नहीं करता, बल्कि इसके इस्तेमाल के भी खिलाफ है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Ms3GMP

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश