बाइडेन के शपथ ग्रहण में नहीं जाएंगे अमेरिकी राष्ट्रपति, वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस करेंगे शिरकत

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन की इनॉगरेशन डे सेरेमनी में हिस्सा नहीं लेंगे। उनकी जगह उप राष्ट्रपति माइक पेंस इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से न्यूज एजेंसी ने यह जानकारी दी है। बाइडेन और कमला हैरिस का शपथ ग्रहण समारोह 20 जनवरी को होगा। अमेरिका में इसे इनॉगरेशन डे सेरेमनी कहा जाता है।

ट्रम्प और पेंस के रिश्तों में खटास
दो दिन पहले ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रम्प का पर्सनल अकाउंट बंद कर दिया था। इसके पहले ही ट्रम्प ने साफ कर दिया था कि वे बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत नहीं करेंगे। हालांकि, वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस ने ट्रम्प से अलग राय रखी। पेंस ने यह भी साफ कर दिया था कि 6 जनवरी को इलेक्टोरल कॉलेज की वोटों की गिनती के दौरान जो हंगामा हुआ, वे उसकी निंदा करते हैं। पेंस ने इसे लोकतंत्र पर हमला करार दिया, इसे अमेरिकी इतिहास का काला दिन बताया। बाद में ट्रम्प ने पेंस के रवैये को पक्षपाती बताया था।

बाइडेन खुश
बाइडेन ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में साफ कर दिया था कि वे ट्रम्प के न आने से खुश हैं और पेंस की मौजूदगी का स्वागत करते हैं। CNN की रिपोर्ट के मुताबिक, पेंस ने बाइडेन की ट्रांजिशन टीम को मैसेज भेज दिया है कि वे शपथ ग्रहण समारोह में जरूर आएंगे। बाइडेन ने ट्रम्प को अमेरिकी इतिहास का अब तक का सबसे खराब प्रेसिडेंट करार दिया था। साथ ही ये भी कहा था कि वे राष्ट्रपति बनने लायक थे ही नहीं।
ट्रम्प की नाराजगी के बावजूद पेंस ने बाइडेन और कमला हैरिस को जीत की बधाई दी थी। अमेरिकी कांग्रेस की मीटिंग के दौरान भी उन्होंने कहा था कि सबसे जरूरी चीज जनमत का आदर करना है। देश सियासत से ऊपर होता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस के साथ राष्ट्रपति ट्रम्प। ट्रम्प ने प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में जाने से इनकार कर दिया है। हालांकि, पेंस इसमें शिरकत करेंगे। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3nsfEmF

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश